धोनी की खराब कप्तानी की वजह से भारत को सेमीफाइनल में करना पड़ा हार का सामना: वीरेंद्र सहवाग

पुर्व भारतीय बल्लेबाज विरेंद्र सहवाग ने कहा,कि वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कि कप्तानी कुछ खास नहीं थी. क्रिकबज से बात करते हुए विरेंद्र सहवाग ने कहा,कि जैसे की महेंद्र सिंह धोनी ने रविचन्द्र अश्विन के पुरे ओवर नहीं कराए, वहां उन्होंने बडी गलती की. विरेंद्र सहवाग ने धोनी की कप्तानी पर और भी कुछ कहा वो देखते है.

2 नो बॉल पर सहवाग ने कहा:

भारतीय टीम उन 2 नो बॉल की वजह से हारी है. जब रवीचन्द्र अश्विन की नो बॉल पर लेंडल सिमन्स आउट हुए, तब लेंडल सिमन्स सिर्फ 18 रनों पर खेल रहे थे. और दुसरी बार जब हार्दिक पांड्या की नो बॉल पर लेंडल सिमन्स फिर से आउट हुए, तब लेंडल सिमन्स 50 रनों पर खेल रहे थे, और उस फ्री हिट पर लेंडल सिमन्स ने छक्का भी जड दिया था. और ये 2 नो बॉल भारत की हार की बडी वजह रहीं.

धोनी की कप्तानी पर विरेंद्र सहवाग ने कहा:

मुझे नहीं पता की रवीचन्द्र अश्विन ने सिर्फ 2 ओवर ही गेंदबाजी क्यों की. रवि अश्विन को पुरे 4 ओवर देने चाहिए थे, क्योंकी रविंद्र जडेजा ने अपने 4 ओवरों में 48 रन तो हार्दिक पांड्या ने अपने 4 ओवरों में 40 से ज्यादा रन दिये. रवीचन्द्र अश्विन भारत के मुख्य गेंदबाज है, और वे एक वर्ल्ड क्लास गेंदबाज है, जिनको पुरे ओवर देने ही चाहिए थे. और यहीं पर महेंद्र सिंह धोनी ने खराब कप्तानी की.

टॉस के बारे में विरेंद्र सहवाग ने कहा:

दोनों टीमों के लिए टॉस बडा ही महत्वपूर्ण था. जब वेस्टइंडीज ने टॉस जीता, तब उन्होंने आधा मैच जीत लिया था. सभी को पता था,कि ओस गिरेगी, और वानखेडे की पिच बल्लेबाजों के लिए जैसी है, और छोटी बाउंड्री है, वहां 180-190 स्कोर आसानी से हासिल किया जा सकता है.

Related Topics