प्रज्ञान ओझा ने की धोनी की कप्तानी पर टिप्पणी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद पहली बार महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी पर बोले प्रज्ञान ओझा, कहा 

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद पहली बार महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी पर बोले प्रज्ञान ओझा, कहा

लंबे वक्त से टीम इंडिया से बाहर चल रहे स्पिन गेंदबाज प्रज्ञान ओझा ने पिछले हफ्ते अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया. अंतरराष्ट्रीय स्तर से संयास लेने के बाद अब ओझा कमेंट्री करते नजर आएगे. अब वीआई टी20 टूर्नामेंट से इतर ओझा ने विदेशी टी20 लीग खेलने की इच्छा जताई है. साथ ही उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी पर टिप्पणी करते हुए उन्हें गेंदबाजों का कप्तान बताया है.

विदेशी लीग खेलने की जताई इच्छा

प्रज्ञान ओझा

सोमवार से वीआई टी20 टूर्नामैंट का आगाज हुआ है. इसमे भारत के तमाम अंतरराष्ट्रीय व घरेलू खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. बुधवार को कमेंट्री के दौरान ओझा ने कहा,

मेरे दिमाग में कई चीजें हैं. मैं अभी कमेंट्री कर रहा हूं और बीसीसीआई के साथ हूं. मैं बीसीसीआई से सलाह लूंगा कि क्या मैं भारत से बाहर कुछ लीगों में खेल सकता हूं. मैं ऐसा तभी करूंगा जब मुझे इसके लिए अनुमति मिलेगी.

आपको बता दें, बीसीसीआई के नियमानुसार कॉन्ट्रेक्ट से जुड़े हुए किसी भी खिलाड़ी को विदेशी लीगों को खेलने की अनुमति नहीं दी गई है. हालांंकि संन्यास लेने के बाद बीसीसीआई ने पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह को विदेशी लीग खेलने की इजाजत दी थी.

धोनी हैं तेज गेंदबाजों के कप्तान

प्रज्ञान ओझा

2013 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में प्रज्ञान ओझा ने आखिरी टेस्ट मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. इस मैच में खिलाड़ी ने अपनी बाएं हाथ की स्पिन गेंदबाजी का जलवा दिखाते हुए 10 विकेट हासिल किए थे. इसके बाद ओझा को टीम से ड्रॉप कर दिया गया और उसके बाद कप्तान ने उनकी वापसी नहीं कराई. उनकी जगह बतौर ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा को खिलाया गया. मगर अब वीआई टूर्नामेंट के दौरान ओझा ने धोनी की कप्तानी के बारे में बात करते हुए कहा,

वह (धोनी) गेंदबाजों के कप्तान है. मैं पूरी तरह से मानता हूं कि गेंदबाज के पास ऐसा कप्तान होना चाहिए जो उसे समझता है. बहुत से गेंदबाज धोनी की तारीफ करते हैं क्योंकि वे आपको जो आयाम देते हैं वह आपकी काफी मदद करता है.

टेस्ट में 113 विकेट लेने वाले प्रज्ञान ओझा से जब पूछा गया कि क्या उन्हें अपने करियर में कोई पछतावा है. इसपर बाएं हाथ के गेंदबाज ने कहा,

शायद भारत के लिए और क्रिकेट खेला होता.

प्रज्ञान ओझा का शानदार क्रिकेट करियर

प्रज्ञान ओझा

प्रज्ञान ओझा ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 24 टेस्ट मैचोंमें 30.27 के औसत के साथ 113 विकेट हासिल किए हैं. खिलाड़ी ने 7 बार एक पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा किया था. जबकि एक बार वो 10 विकेट लेने में सफल रहे थे. 18 वनडे मैचों में स्पिनर ने 31.05 के औसत से 21 विकेट हासिल किए थे.

प्रज्ञान ओझा ने मात्र 4.47 की इकॉनमी से रन दिया है. 6 टी20 मैच में उन्होंने 13.2 के औसत से 10 विकेट लिया. जबकि 6.29 के शानदार इकॉनमी से रन दिए. प्रज्ञान ओझा ने न केवल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बल्कि आईपीएल में भी बड़ा नाम कमाया. ओझा ने 2010 में 21 विकेट के साथ गेंदबाज ने पर्पल कैप अपने नाम की थी.

Related posts