बीसीसीआई ने छोड़ा धोनी पर ज़िम्बाब्वे टूर पर जाने का फैसला

sagar mhatre / 20 May 2016

आईपीएल खत्म होने के तुरंत बाद 11 जून को भारत का ज़िम्बाब्वे दौरा है, ऐसे में बीसीसीआई सभी सीनियर खिलाड़ियों को आराम देने का मन बना रही है, लेकिन बीसीसीआई यह फैसला इन खिलाड़ियों की सहमती से ही लेना चाहती है.

सूत्रों की माने तो, जिंम्बाब्वे दौरे के लिए विराट कोहली, रोहित शर्मा और शिखर धवन को आराम देना लगभग तय है, तो महेंद्र सिंह धोनी का फैसला उन्हें खुद लेना होगा.

रिपोर्ट के मुताबिक, संदिप पाटिल और अन्य चयनकर्ताओं ने जिंम्बाब्वे दौरे के लिए महेंद्र सिंह धोनी उपलब्ध होंगे या नहीं इसका फैसला खुद धोनी के उपर छोड़ा है.

बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक, महेंद्र सिंह धोनी को ये बताया गया है,कि अगले साल मार्च तक भारत को सिर्फ 5 वनडे खेलने है, और भारत 17 टेस्ट खेलेगा, इसका मतलब धोनी को पुरे साल आराम ही मिलेगा.

बीसीसीआई सुत्रों ने कहा,कि हम इस दौरे पर युवा खिलाड़ियों को मौका देना चाहते है, जैसे विराट कोहली, रोहित शर्मा और शिखर धवन को आराम दिया जायेगा. साथ ही अन्य सीनीयर खिलाड़ी है, जिन्होंने इस दौरे के लिए उपलब्ध होने की बात कहीं है, लेकिन बीसीसीआई उनको मौका नहीं देगी, और धोनी को सिर्फ इसलिए मौका दिया जायेगा क्योंकी वे अब टेस्ट नहीं खेलते.

चयन समिती ये फैसला धोनी पर छोड़ा है, कि वे इस दौरे पर जाना चाहते है या नहीं. महेंद्र सिंह धोनी ने पिछले कुछ समय से काफी क्रिकेट खेला है, लेकिन अगले साल मार्च तक भारत सिर्फ टेस्ट क्रिकेट ही खेलेगा, जिस वजह से धोनी को अब सीधे अगले साल मार्च में क्रिकेट खेलने को मिलेगा.

सुत्रों के मुताबिक, अगर महेंद्र सिंह धोनी ने आराम करने का फैसला किया, तो अजिंक्य रहाणे को बतौर कप्तान भेजा जा सकता है.

जिंम्बाब्वे दौरा सिर्फ 9 दिनों का है, जिसमे सभी मैच एक ही स्टेडियम हरारे स्पोर्ट्स क्लब में खेले जायेगा. तो इस वजह से ज्यादा थकान भी खिलाड़ियों को नहीं होगी.