ऋतुराज गायकवड़ ने महेन्द्र सिंह धोनी को लेकर की ये दिल छू लेने वाली बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कई खिलाड़ियों के भविष्य को बनाया है। भारतीय क्रिकेट के कई खिलाड़ियों को महेन्द्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन से बड़ा फायदा हुआ है। भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी करते हुए या फिर आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करते हुए महेन्द्र सिंह धोनी ने बहुत खिलाड़ियों को दिशा दी है।

ऋतुराज गायकवड़ को सीएसके में मिला धोनी का साथ

ऐसे ही खिलाड़ियों में एक हैं महाराष्ट्र के युवा प्रतिभाशाली बल्लेबाज ऋतुराज गायकवड़। भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम से निकलने के बाद आज ऋतुराज गायकवड़ भारत ए की टीम में अपने जबरदस्त प्रदर्शन के बूते जगह बना चुके हैं।

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 1

ऋतुराज गायकवड़ का बल्ला भारत ए और अंडर-19 टीम के लिए खूब बोला है लेकिन उन्हें आईपीएल में महेन्द्र सिंह धोनी के साथ रहने का बड़ा फायदा मिला है। पिछले आईपीएल सीजन में ऋतुराज गायकवड़ चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा थे।

महेन्द्र सिंह धोनी ने दिया है ऋतुराज को आत्मविश्वास

महाराष्ट्र के इस बल्लेबाज को चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने साथ केवल 20 लाख रूपये में शामिल किया और उन्हें कोई मैच खेलने का भी मौका नहीं दिया लेकिन महेन्द्र सिंह धोनी ने उन्हें ऐसा आत्मविश्वास दिया कि आज वो जहां भी देखों रनों की बारिश कर रहे हैं।

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 2

ऋतुराज की बेहतरीन प्रतिभा को देखते हुए उन्हें इसी साल आईपीएल के बाद भारत ए की टीम में जगह मिली जिसके बाद उन्हें पहले ही मैच में निराश होना पड़ा लेकिन फिर उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और लगातार शानदार प्रदर्शन किया।

उन्होंने श्रीलंका ए और वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 187, 125, 94, 84, 74, 3, 85, 20 और 99 के स्कोर बनाए। उन्होंने इन मैचों में 112 की शानदार औसत और 116 की स्ट्राइक रेट से 677 रन बनाए।

ऋतुराज की बल्लेबाजी को लेकर उनके कोच सुरेन्द्र भावे ने कहा कि” मैं उसे 4 साल पहले देखा था और मैं उसमें तुरंत एक एक्स फैक्टर को देख लिया। मैंने अंडर-19 मैच में उनके दोहरे शतक के बारे में सुना था। जिसमें महाराष्ट्र की टीम 250 पर सिमट गई थी। इसलिए मैंने उसे खेलते हुए देखा और मैं उससे प्रभावित हुआ।”

धोनी ऋतुराज के दिमाग से हुए थे प्रभावित

आईपीएल में सीएसके के लिए खेलने के दौरान ऋतुराज ने पहली बार फील्डिंग को लेकर सजेशन देकर धोनी को इंप्रेस किया था। केकेआर के खिलाफ 2019 आईपीएल में ऋतुराज ने धोनी को फील्डिंग का एक सुझाव दिया जो धोनी को भा गया।

इंडिया ए

ईएसपीएनक्रिकइंफो के अनुसार उस समय गायकवड़ ने धोनी से कहा, “माही भाई, आन्द्रे रसेल स्कूप और पैडल नहीं खेलना है। शॉर्ट फाइनल लेग हटाकर डीप स्क्वेयर लेग लगा सकते हैं,” इस पर धोनी ने कहा “तेज दिमाग, थोड़ा छोटा करने का प्लान था और शॉर्ट फाइन लेग टॉप एज के लिए रूका था। ऐसे ही शामिल होते रहें।”

मैकुलम की पारी देख किया क्रिकेटर बनने का फैसला

वैसे तो ऋतुराज गायकवड़ का पढ़ाई में ज्यादा ध्यान रहता था लेकिन साल 2003 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम ने तेज गेंदबाजों के खिलाफ स्कूप शॉट खेला जिससे ऋतुराज प्रभावित हुए और क्रिकेट में जाने का फैसला किया। उस समय वो 6 साल के थे और उन्होंने वेंगसरकर एकेडमी को जॉइन किया।

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 3

ऋतुराज ने कूच बिहार ट्रॉफी 2014-15 में मध्यक्रम में खेलते हुए खूब रन बनाए जिसके बाद उन्हें 2015-16 में महाराष्ट्र की टीम में चुन लिया और उन्होने झारखंड के खिलाफ रणजी डेब्यू किया। जिस टीम के धोनी मेंटर थे।

धोनी ने जब गायकवड़ को दिया ऑटोग्राफ

ऋतुराज ने धोनी को लेकर उस दौर की बात को याद करते हुए बताया कि “माही भाई झारखंड के मेंटर थे, मैं उन्हें इंप्रेस करना चाहता था। लेकिन वरूण आरोन की बाउंसर से मेरी अंगुली टूट गई। मैं ड्रेसिंग रूप लौटना चाहता था लेकिन केदार ने मुझे खेलते रहने को कहा। मुझसे दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा था इसलिए मैंने शॉट खेलना चाहा और आउट हो गया। लंच ब्रेक में माही भाई मेरे पास आए और बल्ले पर साइन किए। उन्होंने मेरे प्लास्टर पर गेट वेल सून लिखा।”

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 4

सीएसके में चुने जाने का चला इस तरह पता

आईपीएल नीलामी की बात याद करते हुए ऋतुराज ने कहा “अनकैप्ड खिलाड़ियों के पहले राउंड के बाद मैंने टीवी बंद कर दिया और प्ले स्टेशन चला गया। मेरा नंबर 80 के करीब था और अचानक से 110 हो गया। इसलिए मैंने सोचा कि मेरी बारी गई। कुछ समय बाद मुझे मैसेज आने लगे। इस तरह से मुझे सीएसके में जाने का पता लगा। मेरे माता-पिता शहर से बाहर थे और राज में आए। जब एक दोस्त केक लेकर घर आए तब उन्हें सच में भरोसा हुआ।”

भारत को मिल चूका है धोनी का उत्तराधिकारी घरेलू क्रिकेट में लगा रहा है रनों का अंबार, खुद माही हैं इसके दिमाग के कायल 5

धोनी भाई ने कहा, तुम टैलेंटेड हो रन बनाते रहो

“मैंने माही भाई से पूछा याद है आपको?” तो उन्होंने कहा “बिल्कुल सिर्फ वो साइन नहीं लेकिन तुम्हारा शॉट भी, तुम टैलेंटेड हो डोमेस्टिक में रन बनाते रहो।”

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।

Related posts