कोहली ने कहा एक आघात के रूप में लगा धोनी का रिटायर्मेंट

हाल ही में भारत के टेस्ट टीम के कप्तान नियुक्त किये गये, भारतीय कलात्मक बल्लेबाज विराट कोहली ने कहा, धोनी का रिटायर्मेंट एक आघात के रूप में लगा, धोनी के रिटायर्मेंट के फैसलों को सुन के सभी टीम के सदस्य भौचक्के रह गये, अभी पिछले दिनों टीम के डायरेक्टर रवि शास्त्री ने भी कहा था, धोनी के रिटायर्मेंट से वो ह्स्तब्ध है.

धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चल रहे वार्डर-गवास्कर ट्राफी के तीसरे मैच में 0-2 से पिछड़ने के बाद टीम अब तक विदेशो में टीम की हार की जिम्मेदारी लेते हुए रिटायर्मेंट की घोषणा की थी, ऐसा करने वाले धोनी पहले भारतीय कप्तान है, जिसने अपने उपर टीम की हार का जिम्मा लेकर सन्यास की घोषणा की हो.

सिडनी टेस्ट की पूर्व संध्या पर कोहली ने कहा:

“हम सभी उनके (धोनी के) इस अचानक आये हुए फैसले से स्तब्ध हो गये, हमे इसके बार में पहले से कोई जानकारी नहीं थी, हमने यह कभी नहीं सोचा था, हम इस फैसले से निश्चित रूप से ह्स्तब्ध रह गये.”

कोहली ने परेशानियों में भी धोनी के शांत रहने की योग्यता की प्रसंशा करते हुए कहा कि एक कप्तान के रूप में उनसे बहुत कुछ सीखना है.

“अभी उनसे बहुत कुछ सीखना है, खास करके विशेष परिस्थितियों में धैर्य रखना और महत्वपूर्ण समय पर सही निर्णय लेना.”

“ये सारी अनमोल बाते है, हर कोई उनसे एक कप्तान के रूप में प्यार करेगा, मी कोशिश करूंगा की उनके इतना शांत रह सकू, लेकिन सबकी अपनी अलग शैली (स्टाइल) होती है.”

कोहली ने यह साफ़ करते हुए कहा, की भले ही भारत यह सीरीज हार गया हो लेकिन हम उसी उतेज्जना के साथ खेलते हुए, सिडनी टेस्ट जितने की पूरी कोशिश करेंगे.

उन्होंने आगे कहा:

“खिलाडियों को एक सकरात्मक सोच रखना चाहिए, और सीमा में रहना चाहिए, हम यहाँ लड़ने के लिए नहीं आये है.”

“आप इस मैच में भी सकरात्मक इरादा और उतेज्जना देखेंगे.”

 

Related Topics