फाइनल में ओवरथ्रो पर न्यूजीलैंड की तरफ से आया बयान, नहीं पता थे पूरे नियम

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

अंपायर साइमन टफेल ने कहा था न्यूज़ीलैंड के साथ नहीं हुआ सही तो अब कीवियों ने खुद दिया ये जवाब 

अंपायर साइमन टफेल ने कहा था न्यूज़ीलैंड के साथ नहीं हुआ सही तो अब कीवियों ने खुद दिया ये जवाब

आईसीसी विश्व कप 2019 के फाइनल मुकाबले को इंग्लैंड ने अपने नाम किया। उन्होंने मैच और फिर सुपर ओवर टाई होने के बाद मैच में ज्यादा बाउंड्री लगाने की वजह से जीत दर्ज की। इंग्लैड पारी के अंतिम ओवर में बेन स्टोक्स ने दो रन दौड़े वहीं गेंद ओवर थ्रो में चौके के लिए चली गई। ऐसे में अंपायर ने इंग्लैंड को रन देने का फैसला किया। अंत में यह मैच टाई हो गया।

अंपायर से हुई बड़ी चूक

क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन अंपायरों में गिने जाने वाले ऑस्ट्रेलिया के साइमन टफेल ने इस विवाद पर बयान दिया है। उन्होंने खुलासा किया कि क्रिकेट की नियम के मुताबिक इंग्लैंड को 5 रन ही मिलने चाहिए थे।

साइमन ने बताया कि क्रिकेट की नियम के अनुसार ओवर थ्रो में गेंद बाउंड्री के बाहर जाती है तो बाउंड्री के अलावा उसमें वही जोड़े जाते हैं जो थ्रो करने से पहले पूरे किये जाते हैं। फील्डर के थ्रो फेंकने से पहले बल्लेबाजों ने एक-दूसरे क्रॉस नहीं किया हो तो वह रन नहीं जोड़ा जाता।

नियम की पूरी जानकारी नहीं थी

इस मामले पर न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज और वर्तमान में टीम के बल्लेबाजी कोच क्रेग मैकमिलन ने बात की है। उन्होंने न्यूजीलैंड हेराल्ड से बताया कि उन्हें नियम के बारे में पूरी जानकरी नहीं थी। क्रेग ने कहा

“मैं उस नियम को पूरी तरह से ईमानदारी से नहीं जानता था। मैंने क्रिकेट के बहुत सारे मैच खेले हैं, बहुत सारे क्रिकेट देखे हैं। ओवरथ्रो मे हमेशा वह रन जोड़े जाते हैं, जो थ्रो फेंकने से पहले दौड़ लिए जाते हैं।”

कप्तान ने भी दी प्रतिक्रिया

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने भी इस मामले पर अपनी राय दी है। उन्होंने भी यही बात कही कि नियम के बारे में उन्हें जानकारी नहीं थी और जो अंपायर ने कहा, उन्होंने मान लिया। कीवी कप्तान बोले

“मैं वास्तव में उस समय मुझे नियमों की जानकारी नहीं थी। जाहिर है कि आप अंपायरों पर भरोसा करते हैं और वे क्या करते हैं।”

Related posts