दिनेश कार्तिक

आईपीएल 2020 में कोलकाता नाइटराइडर्स की कप्तानी बीच टूर्नामेंट छोड़ने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक ने अब ये बड़ा खुलासा किया है. दिनेश कार्तिक ने बताया कि आखिर उन्हें ये फैसला क्यों लेना पड़ा. केकेआर के विकेटकीपर बल्लेबाज, दिनेश कार्तिक ने पिछले साल केकेआर की कमान इयोन मोर्गन को सौंपने के पीछे का कारण बताते हुए कहा है कि वो मॉर्गन को एक मौका देना चाहते थे दिनेश कर्तिक ने कहा कि जब उन्होंने कप्तानी छोड़ी तो टीम अंक तालिका में एक अच्छी स्थिति में भी थी इसलिए वो सही समय था।

दिनेश कार्तिक ने केकेआर की कप्तानी छोड़ने की बताई वजह

दिनेश कार्तिक

दिनेश कार्तिक ने केकेआर द्वारा शेयर किए गए एक वीडियो में कहा कि मैं मॉर्गन को एक मौका देना चाहता था क्योंकि यह वास्तव में महत्वपूर्ण था. दिनेश कार्तिक ने आगे कहा कि मेरी कप्तानी में टीम ने 7 मुकाबले जीते थे और इतने ही मुकाबले खेलने बाकी थे.

दिनेश कार्तिक के मुताबिक अगर टीम बुरी स्थित में होती तो उनके कप्तानी छोड़ने की आलोचना होती. दिनेश कार्तिक ने कहा कि समय की मांग को देखते हुए मैने यह फैसला लिया.

दिनेश कार्तिक ने कहा सभी खिलाड़ियों ने मुझे दिया सहयोग

दिनेश कार्तिक

कप्तानी छोड़ने की वजह बताने वाले दिनेश कार्तिक ने आगे कहा,

“ढाई साल में मैंने टीम का नेतृत्व किया है, मुझे लगता है कि मैंने खिलाड़ियों का विश्वास अर्जित किया है। मुझे लगता है कि एक लीडर के रूप में यह बहुत महत्वपूर्ण है। मुझे लगता है कि खिलाड़ियों का मानना था कि दोनों लोगों ने टीम को अपने से आगे रखा और इसीलिए ये फैसला लिया गया।”

अभी भी केकेआर की टीम का हिस्सा हैं दिनेश कार्तिक

दिनेश कार्तिक

आईपीएल 2021 में भी दिनेश कार्तिक केकेआर की टीम का अहम हिस्सा है. वो बल्लेबाजी के साथ-साथ विकेटकीपिंग की भी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल बीच टूर्नामेंट में कप्तानी छोड़ने के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि दिनेश कार्तिक पर टीम मालिकों का दबाव था जिसके चलते उन्होंने कप्तानी छोड़ी थी.