डैरेन सैमी के "कालु" वाले बयान पर बोले इरफ़ान पठान, कही ये बात 1

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड के मौत बाद अब नस्लीय टिप्पणी को लेकर बहुत चर्चा हो रही है. जिसको लेकर डैरेन सैमी ने सवाल उठाया था. अब भारतीय टीम के पूर्व आलराउंडर इरफ़ान पठान ने भी बड़ा खुलासा करते हुए बताया है की घरेलू क्रिकेट में नस्लीय टिप्पणी होती रहती है. लोगो को इस बारें में अब शिक्षित करने की जरुरत है.

इरफ़ान पठान ने कहा घरेलू क्रिकेट में होती है नस्लीय टिप्पणी

इरफ़ान पठान

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद पूरे दुनिया भर में नस्लीय टिप्पणी को लेकर सवाल चल रहा है. आईसीसी में भी इस बार को लेकर डैरेन सैमी ने सवाल उठाया था. जल्द वहां से भी कड़े नियम जारी हो सकते हैं. आईपीएल में खुद पर हुए नस्लीय टिप्पणी को लेकर भी डैरेन सैमी ने सवाल उठाया था. जिसके बारें में अब इरफ़ान पठान ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि

” मैं 2014 में सैमी के साथ था. मुझे लगता है कि यह वास्तव में हुआ था, इस मामले पर निश्चित रूप से चर्चा की गई होगी. इसलिए मुझे ऐसी बातों की जानकारी नहीं है क्योंकि कुछ भी बड़े पैमाने पर चर्चा नहीं की गई थी. लेकिन साथ ही, हमें अपने लोगों को शिक्षित करने की आवश्यकता है क्योंकि मैंने उन्हें घरेलू क्रिकेट में नस्लीय टिप्पणी करते देखा है.”

दक्षिण भारत के क्रिकेटरों को इसका करना पड़ा है सामना

इरफ़ान पठान

भारतीय टीम में लंबे समय तक खेलने वाले इरफ़ान पठान ने दक्षिण भारत के खिलाड़ियों को लेकर इस तरह का मजाक फैन्स का देखा है. जिसके बारें में उन्होंने कहा कि

” दक्षिण के हमारे कुछ क्रिकेटरों ने, विशेष रूप से, देश के उत्तरी और पश्चिमी हिस्सों में इसका सामना किया है. हालांकि मैं किसी का नाम नहीं लेना चाहता. भीड़ के बीच क्या होता है, कोई व्यक्ति एक अभिनेता की तरह काम करने की कोशिश करता है. ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि लोग नस्लवादी हैं, लेकिन यह ऐसा है जो किसी व्यक्ति को ऐसा कुछ कहकर लोकप्रिय होने की कोशिश कर रहे हैं जो कुछ अवसरों पर लाइन को पार करने के लिए जिम्मेदार है.”

पार्थिव पटेल और वेणुगोपाल राव भी इसपर बोले

गुजरात

आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने कहा उन्होंने अभी तक ऐसा कुछ नहीं देखा है. जबकि वेणुगोपाल राव ने भी इससे इंकार किया है. लेकिन उसके बाद भी अब बीसीसीआई को नस्लीय टिप्पणी को लेकर कड़े नियम बनाने होंगे. जिसके बाद ही स्थिति को सँभालने में मदद मिलेगी. अब आईपीएल 2020 के समय इस बात का ध्यान रखना होगा.