रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने का विकल्प 

रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने का विकल्प

अब तक रणजी ट्रॉफी के दौरान डीआरएस का विकल्प नहीं मौजूद रहता था. लेकिन अब इसके बारें में बीसीसीआई ने बहुत बड़ा फैसला लिया है. जिसके कारण अब रणजी ट्रॉफी 2019-20 के नॉकआउट मैच में टीमों के पास डीआरएस लेने का विकल्प मौजूद होगा. हालाँकि इसे अलग तरह से पेश किया गया है. जो देखने में शानदार लग रहा है.

डीआरएस को लेकर रणजी ट्रॉफी में होगा बड़ा फेरबदल

रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने का विकल्प 1

जब रणजी ट्रॉफी में डीआरएस का उपयोग अलग रूप से किया जायेगा. आईसीसी द्वारा पारी में 2 डीआरएस का मौका दिया जाता है. लेकिन बीसीसीआई ने 4 डीआरएस देने का फैसला किया है. जिसके बारें में सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा जारी किये गये प्रेस रिलीज में लिखा गया है कि

“ हर पारी में एक टीम अधिकतम 4 डीआरएस ले सकती है. जहाँ पर खिलाड़ी मैदानी फैसले बदलने के लिए गुहार लगा सकते हैं. यदि इन मैच में डीआरएस का प्रारूप सफल होता है तो फिर हम इस लिमिट को कम करने का फैसला कर सकते हैं.”

इसके बारें में बोलते हुए सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि

“ मैं बीसीसीआई के इस फैसले का स्वागत करता हूँ. जो बोर्ड ने सेमीफ़ाइनल और फाइनल में डीआरएस लागु करने का फैसला कर लिया है. हम बस चाहेंगे की यही फैसला विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान भी अपनाया जा सके.”

बीसीसीआई के अधिकारी ने दिया बड़ा बयान

रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने का विकल्प 2

रणजी ट्रॉफी का सेमीफ़ाइनल मैच 29 फ़रवरी से ही खेला जायेगा. जहाँ पर राजकोट में खेलें जाने वाले मैच में गुजरात और सौराष्ट्र की टीम आमने-सामने होंगी. जबकि कोलकाता में होने वाले दूसरे सेमीफ़ाइनल मैच में बंगाल और कर्नाटक की टीम आमने सामने होंगी. टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि

“ दोनों टीमों को 4 डीआरएस देने का फैसला इसलिए किया गया है क्योंकि अब तक खिलाड़ियों ने इस सिस्टम का उपयोग घरेलू स्तर पर नहीं किया गया है. जिसके कारण अब 4 डीआरएस देकर उन्हें भविष्य के लिए तैयार कर रहे हैं. जिसके भारतीय टीम में आने के बाद उन्हें उसका उपयोग करने का अंदाज पता हो.”

फाइनल खेला जायेगा 9 मार्च को

रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच में टीमों के पास रहेगा डीआरएस लेने का विकल्प 3

इस टूनामेंट का फ़ाइनल मैच 9 मार्च को खेला जायेगा. इस बार का रणजी ट्रॉफी बहुत ही अच्छा हुआ है. जहाँ पर कई रोमांचक मैच भी देखने को मिले हैं. जिसके कारण अब उम्मीद हैं की सेमीफ़ाइनल और फ़ाइनल के मैच भी उतने ही रोमांचक होंगे. सभी टीमों में बड़े खिलाड़ी भी मौजूद हैं. जिससे दर्शको का उत्साह बढ़ेगा.

 

 

Related posts