जानिये ऐसी क्या गलती होगई जिसे ये टीम फाइनल से बाहर है

आइपीएल अब अपने समाप्ति की ओर है और दोनों फाइनल खेलने वाली टीमें अपनी जगह बना चुकी है. ऐसे में जो टीमे आइपीएल से बाहर हो गयी है उनकी कुछ न कुछ एसी गलतिया थी जिनके कारन वो आइपीएल के खिताबी मुकाबले से बहार हो गए . उन गलतियों पर एक नजर डालते है.

शेनवॉटसन, जेम्सफॉकनर, टिमसाउथी जैसे गेंदबाजो से भरी राजस्थान की टीम ने आखरी ओवरों में ख़राब गेंद्बाजी की जिसके वजह से ये टीम मुकाबले से बहार हो गयी. राजस्थान ने हालांकि सुरुवात लगातार 5 मैच जित के की परन्तु अख्रिरी 5 ओवेरो में पूरी टीम ने 11.6 के रन रेट से केवल 22 विकेट ही ले सकी जबकि चेन्नई के ड्वेन ब्रावो ने अकेले २१ विकेट ली है

बार बार नए चेहरों को मौका देना डेल्ही के टीम के लिए भरी पड़ गया. हालाँकि इस बार डेल्ही की टीम पिछले साल की अपेछा अच्छी स्तिथि में थी परन्तु पुरे सीजन में डेल्ही की टीम ने कुल 20 खिलाडियों को मोका दिया जो की एक ख़राब चलन साबित हुई और डेल्ही की खिताबी मुकाबले से बहार हो गयी.२०११ से लेकर अब तक 64 खिलाडियों को खिला चुकी दिल्ली की टीम ने अपनी इसी गलती की वजह से निचे से दुसरे स्थान पर पहुच गयी

पावर प्ले में जल्दी जल्दी विकेट गवाना किंग्स एलेवेंन पंजाब की हर की मुख्य वजह रही . लीग मैचो के ख़त्म होने के पहले ही यह अंदाजा लग गया था की पंजाब की टीम इस बार अंतिम स्थान पर रहेगी . पंजाब की टीम ने पावर प्ले में कुल ३२ विकेट गवाए जो अन्य किसी भी टीम से दस विकेट अधिक है .

सनराइजर्स हैदराबाद के गेंद्बाजो का बेहद ख़राब प्रदर्शंन उनके हर का कारन रहा.कोई भी गेंदबाज एक मैच में चार से जादा विकेट नहीं ले पाया और पुरे सीजन में कोई गेंदबाज दस विकेट भी नहीं ले पाया डेलस्टेन, भुवनेश्वरकुमार, ईशांतशर्मा ट्रेंटबोल्ट,जैसे खिलाडियों के रहते हुए तो हैदराबाद को मजबूत गेंद्बजी की टीम माना जा रहा था पर एसा नहीं हुआ और फ्लॉप गेंदबाजी की वजह से हैदराबाद बाहर हो गई

कोलकाता के बल्लेबजो की ख़राब प्रदर्शन कोलकाता की हार की वजह रही . कभी बल्लेबाजी ही इस टीम की मजबूती माने जाने वाली कोलकाता के बल्लेबाजो ने केवल २४.८५ के औसत से रन बनाये . यहाँ तक की कोलकाता का कोई भी बल्लेबाज 400 रन तक नहीं पहुच सका .और कुल मिला के 64 छक्के कोलकाता की टीम ने मरे जो सभी टीमो से कम है .टीम में केवल 8 अर्ध शतकीय पारी खेली गयी जो केवल पंजाब के बाद दूसरा जादा है.

Related Topics