चयनकर्ता पद से हटने के बाद ये काम कर सकते हैं एमएसके

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

मुख्य चयनकर्ता पद से हटने के बाद ये काम कर सकते हैं एमएसके प्रसाद 

मुख्य चयनकर्ता पद से हटने के बाद ये काम कर सकते हैं एमएसके प्रसाद

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद का कार्यकाल अगले महीने बीसीसीआई की एजीएम के बाद समाप्त होने वाला है. बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक एक चयनकर्ता का कार्यकाल कुल पांच साल का होता है, लेकिन एमएसके प्रसाद एक वर्ष पहले ही अपने कार्यकाल से हटाये जा सकते हैं.

2016 में बने थे मुख्य चयनकर्ता

एमएसके प्रसाद

बता दें, कि उन्हें 2016 में मुख्य चयनकर्ता का पद दिया गया था. वह 2015 में चयन समिति में शामिल हो गए थे और एक साल बाद उन्हें मुख्य चयनकर्ता बना दिया गया था.

1 दिसंबर को बीसीसीआई की एजीएम में उन्हें लेकर स्पष्टता का पता चल जाएगा. इस मीटिंग में सौरव गांगुली को बीसीसीआई के अध्यक्ष के रूप में नौ महीने से अधिक समय तक काम करने पर भी चर्चा होगी. दरअसल, अभी कूलिंग ऑफ़ पीरियड नियमों के मुताबिक सौरव गांगुली को सितम्बर 2020 के बाद अपना पद छोड़ना होगा.

लक्ष्मण शिवरामकृष्णन बन सकते हैं अगले मुख्य चयनकर्ता

मुख्य चयनकर्ता पद से हटने के बाद ये काम कर सकते हैं एमएसके प्रसाद 1

मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत के पूर्व स्पिनर व कमेंटेटर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का नाम उनकी जगह लेने के लिए सबसे आगे चल रहा है. शिवरामकृष्णन के पास टीएनसीए से समर्थन है, जिसका अभी बीसीसीआई में दबदबा बना हुआ हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, आशीष नेहरा, अजीत अगरकर, दीप दासगुप्ता और रोहन गावस्कर भी इस चयनकर्ता की इस रेस में बने हुए हैं.

नेहरा, दीप दासगुप्ता और गावस्कर वर्तमान में कमेंट्री कर रहे हैं. जबकि अगरकर क्रिकइन्फो के साथ बतौर क्रिकेट एक्सपर्ट काम कर रहे हैं.

आशीष नेहरा दो साल तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के साथ गेंदबाजी कोच के रूप में भी जुड़े रहे हैं, लेकिन फ्रेंचाइजी ने अगस्त में अपने पूरे कोचिंग स्टाफ को बर्खास्त कर दिया.

एमएसके प्रसाद तेलुगु कमेंट्री में अजमा सकते हैं हाथ

जोंटी रोड्स

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि एमएसके प्रसाद अब तेलुगु में कमेंट्री करेंगे. पिछले तीन साल से अधिक समय से वह भारतीय क्रिकेट के सबसे महत्वपूर्ण पद को संभाल रहे हैं और जब भी वह टीम की घोषणा करते हैं, तो हमेशा चर्चा का विषय बने रहते हैं.

Related posts