नेटबॉल से जुडी यह हस्ती सुधारेगी इंग्लैंड में क्रिकेट अक स्तर? | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

नेटबॉल से जुडी यह हस्ती सुधारेगी इंग्लैंड में क्रिकेट अक स्तर? 

नेटबॉल से जुडी यह हस्ती सुधारेगी इंग्लैंड में क्रिकेट अक स्तर?

विश्व क्रिकेट में पुरूषों की क्रिकेट ने समय के साथ-साथ जबरदस्त विकास किया है। जिस तरह से क्रिकेट आगे बढ़ता गया इस तरह पुरूष क्रिकेट विकसित होता गया। वहीं महिला क्रिकेट ने विकास जरूर किया है लेकिन सुविधा के मामले में वो पुरूषों के क्रिकेट के मामले में पिछड़ रहा है।

इसी को देखते हुए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने महिलाओं में प्रतिभाओं को और भी ज्यादा आकर्षित करने और विकास करने की ओर कदम बढ़ा रहा है। बुधवार को इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने महिला क्रिकेट के विकास के लिए डायना लुईस को अपनी राष्ट्रीय महिला टीम के लिए राष्ट्रीय महिला प्रबंधक के रूप में नियुक्त किया है। डायना लुईस फिलहाल इंग्लैंड की नेटबॉल के पथ प्रबंधक के तौर पर काम कर रही है। साथ ही आपको बता दें कि डायना लुईस वेल्स की नेटबॉल टीम के लिए अंडर 21 मे खेल चुकी है।जो रूट ने बताया किस तरह इंग्लैंड की नयी टी-20 लीग दे सकती है आईपीएल को टक्कर

ईसीबी ने इससे पहले इंग्लैंड की पुरूषों की टीम के लिए प्रतिभाओं को आगे लाने और इनका विकास करने के लिए आरएफयू के जोनल एकेडमी के प्रमुख को राष्ट्रीय प्रतिभा प्रंबधक के तौर पर नियुक्ति की गई थी, जिसके बाद महिला क्रिकेट के लिए भी इसी तरह की पहल करने को लेकर चर्चा गर्म होने लगी। ऐसे में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने डायना लुईस को महिला क्रिकेट के विकास की देखरेख के लिए नियुक्त किया गया। इस काम के तरह डायना महिलाओं के खेल को समर्थन देने पर अपना ध्यान केन्द्रित करेंगी।

ईसीबी की महिला क्रिकेट की निदेशक क्लेयर कोनॉर ने डायना लुईस की महिला क्रिकेट टीम के साथ हुई नियुक्ति को लेकर कहा कि “यह हमारी योजनाओं में एक और महत्वपूर्ण कदम है इससे अधिक लड़कियों को अपनी क्षमता को  दिखाने का मौका मिलेगा।” इंग्लैंड के दिग्गज खिलाड़ी ने कहा, ऐसा ही चलता रहा तो ख़त्म हो सकता है टेस्ट क्रिकेट

साथ ही क्लेयर कॉनोर ने कहा कि “क्रिकेट जमीनी स्तर पर लगातार बढ़ती संख्या में महिलाओं और लड़कियों को आकर्षित कर रहा है ।हमें पहले से कहीं ज्यादा क्रिकेट प्रतिभाओं को आगे लाने की जरूरत है, जिसको लेकर डायना लुईस की नियुक्ति करने के बाद महिलाओं के खेल में को आगे लाने का ये सही समय है।”

Related posts