एहसान मनी ने बताया क्यों विश्व कप से पहले सरफराज अहमद से नहीं छिनी पाकिस्तान की कप्तानी 1

आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप में सरफराज अहमद की कप्तानी वाली पाकिस्तान की टीम अंतिम चार में जगह बनाने में नाकाम रही. टूर्नामेंट में टीम ने कहने को तो बहुत अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन भारत के खिलाफ मिली हार से पूरे पाकिस्तान को एक बड़ी ठेस पहुंची.

पाकिस्तान की टीम अब वापस अपने देश लौट चुकी है और मीडिया जगत में यह खबरें लगातार चर्चा में बनी हुई है, कि अब टीम मैनेजमेंट और कोचिंग स्टाफ में बड़े फेरबदल किये जा सकते है.

क्या खतरे में है सरफराज की कप्तानी?

एहसान मनी ने बताया क्यों विश्व कप से पहले सरफराज अहमद से नहीं छिनी पाकिस्तान की कप्तानी 2

एक बड़ी संख्या में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कई पूर्व खिलाड़ी यह मांग लगातार उठा रहे है, कि अब बोर्ड को सरफराज अहमद से कप्तानी की जिम्मेदारी ले लेनी चाहिए और किसी युवा खिलाड़ी को नया कप्तान बनाना चाहिए. वहीं कुछ पाकिस्तानी दिग्गज ऐसे भी हैं, जिनका यह मानना है कि अभी सरफराज से कप्तानी लेने का निर्णय गलत होगा.

जब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष एहसान मनी से सरफराज अहमद की कप्तानी में सवाल किया गया, तो उन्होंने सीधे शब्दों में सरफराज को कप्तानी से हटाए जाने की बात को मना कर दिया. Dawn को दिए अपने एक इंटरव्यू में एहसान मनी ने कहा,

”मैं टीम प्रबंधन में कोई भी बदलाव नहीं करने वाला हूँ और यह बात भी साफ है कि सरफराज अहमद हमारी टीम के कप्तान बने रहेंगे, क्योंकि मैंने पीसीबी का चार्ज विश्व कप शुरू होने से कुछ महीने पहले ही संभाला था.”

कुछ ऐसा रहा था पाकिस्तान का वर्ल्ड कप में प्रदर्शन 

एहसान मनी ने बताया क्यों विश्व कप से पहले सरफराज अहमद से नहीं छिनी पाकिस्तान की कप्तानी 3

पाकिस्तान की टीम पॉइंट्स टेबल में 11 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर रही. टीम ने अपने खेले 9 मैचों में पांच में जीत दर्ज की, जबकि सिर्फ तीन में हार का मुहं देखा. एक मैच बारिश के चलते रद्द हुआ. सरफराज अहमद की कप्तानी में ही पाकिस्तान ने साल 2017 में भारत को हराकर आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीतकर इतिहास रचा था.

सरफराज अहमद ने पाकिस्तान के लिए 13 टेस्ट मैचों में कप्तानी करते हुए चार में जीत दर्ज की, जबकि आठ में टीम को हार का सामना करना पड़ा. वही वनडे में सफराज ने 35 मैचों में कप्तानी की और इस दौरान 21 में टीम को जीत और मात्र 13 में हार का मुहं देखना पड़ा. ट्वेंटी-20 में तो सरफराज अहमद ने 33 मैचों में 29 में जीत का स्वाद चखा है.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.