इंग्लैंड के हालात में अंतिम एकादश को शार्दुल ठाकुर संतुलन प्रदान करते हैं लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को संकेत दिया कि मुंबई के इस तेज गेंदबाज के विकल्प पर फैसला करते हुए टीम प्रबंधन बल्लेबाजी क्षमता को नहीं बल्कि ऐसे खिलाड़ी पर ध्यान देगा जो 20 विकेट चटकाने में मदद कर सके। टेस्ट मैच में जो टीम जितनी जल्दी विकेट निकालेगी, वो जीतने की हकदार होती है।

विराट कोहली ने शार्दुल ठाकुर की इंजरी पर दी जानकारी

बायें पैर की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण ठाकुर के दूसरे टेस्ट से बाहर होने की जानकारी देते हुए कोहली ने कहा,

“अच्छी चीज यह है कि जडेजा पहले टेस्ट में रन बना चुके हैं और वह दूसरे मैच में अधिक आत्मविश्वास के साथ उतरेंगे। हमारी बल्लेबाजी में पहले ही गहराई है और निचला क्रम भी बल्ले से योगदान दे रहा है। शार्दुल की बल्लेबाजी में अधिक क्षमता है लेकिन पुजारा, जिंक्स (अजिंक्य रहाणे) और मैंने काफी रन नहीं बनाए।”

विराट कोहली ने बताया शार्दुल ठाकुर के न होने का नुकसान

अंतिम एकादश में शार्दुल की जगह दूसरे खिलाड़ी के शामिल करने को लेकर कोहली ने कहा,

“प्रत्येक मैच अन्य बल्लेबाजों के लिए मौका होता है कि वे जिम्मेदारी संभालें। रोहित और लोकेश राहुल काफी अच्छा खेले और एक बल्लेबाजी इकाई के रूप में अपनी स्थिति को लेकर हम काफी सहज थे और हमें नहीं लग रहा कि अगर शार्दुल नहीं खेलता है तो हमारे पास एक बल्लेबाज कम रहेगा।”

20 विकेट चटकाना होगी प्राथमिकता

कप्तान विराट कोहली ने आगे कहा,

“हमें अंतिम एकादश में सटीक टीम संतुलन हासिल करना है, लेकिन अगर शार्दुल जैसा कोई खिलाड़ी उपलब्ध नहीं होता है तो निश्चित तौर पर हमें सोचना होगा कि हम 20 विकेट कैसे चटकाएंगे और किसी भी ऐसे खिलाड़ी को शामिल करने का प्रयास नहीं करना चाहिए जो बल्ले से कुछ रन बनाए। पहले मैच में जो हुआ उसे लेकर हम काफी सहज हैं।”