इस भारतीय क्रिकेटर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या 1

एक बार फिर से क्रिकेट का वो चेहरा सबके सामने आया जो हमेशा से छिपाया जाता हैं. ऐसा माना जाता है, कि क्रिकेट के खेल में काफी पैसे है, लेकिन कुछ ऐसे भी खिलाड़ी है, जो गुमनामी में खो जाते हैं और फिर पैसे की तंगी के कारण आत्महत्या कर लेते हैं. एक ऐसे ही केस गुजरात में सामने आया हैं.

विदर्भ के पूर्व स्पिनर अमोल जिचकर ने मंगलवार को नागपुर में अपने घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. वो 38 साल के थे. वही पुलिस में मामला दर्ज कर लिया हैं और उन्होंने आत्महत्या के कारण जानने की कोशिश शुरू कर दी हैं. अमोल ने 1998 से लेकर 2002 तक विदर्भ के लिए खेलते रहें हैं. इस दौरान वो 6 बार टीम में शामिल हुए और उन्होंने 55 औसत से 7 विकेट हासिल किये थे. घरेलू क्रिकेट में पदार्पण से ही पता चल गया था, कि सचिन आगे चलकर करेंगे बड़ा धमाल, देखें पहले मैच में कैसा था क्रिकेट के भगवान का प्रदर्शन

उनके घर वालों ने उनकी आत्महत्या के बारे में बोलते हुए कहा, कि वे पैसे की तंगी के कारण काफी परेशान थे और पिछले कुछ दिनों में परेशानी और ज्यादा बढ़ गयी थी. गुजरात के खिलाफ जीत के बाद आरसीबी के लिए बड़ी खबर, अगले मैच में टीम में वापसी करेंगे ये तीन मैच विजेता खिलाड़ी, केकेआर के लिए खड़ी हुई बड़ी मुसीबत

आगे बोलते हुए उनके घरवालों ने बताया, कि अमोल ने जल्द ही अपने साथी क्रिकटर विपुल पाण्डेय के साथ एक बिजनेस भी शुरू किया था. ये बिजनेस रेस्तरां का था, जिसमे दोनों लोगो की हिस्सेदारी थी. 

अमोल के एक पत्नी और 1 लड़का हैं.

पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी हैं और पुलिस का कहना है, कि जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा. अभी हम केस के सारे पहलुओं को जानने की कोशिश कर रहें हैं.