इंग्लैंड को वर्ल्ड कप चैंपियन बनाने के लिए चचेरे भाई की मौत से उबरे आर्चर

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

फाइनल खेलने से पहले हो गयी थी भाई की हत्या फिर भी खेलने उतरा और देश को जीताया इस खिलाड़ी ने पहला विश्व कप 

फाइनल खेलने से पहले हो गयी थी भाई की हत्या फिर भी खेलने उतरा और देश को जीताया इस खिलाड़ी ने पहला विश्व कप

44 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार इंग्लैंड को अपना पहला वर्ल्ड कप खिताब मिल गया। इंग्लैंड को वर्ल्ड कप विजेता बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले तेज़ गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने टूर्नामेंट के बाद एक ऐसा खुलासा किया जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया।

फाइनल खेलने से पहले हो गयी थी भाई की हत्या फिर भी खेलने उतरा और देश को जीताया इस खिलाड़ी ने पहला विश्व कप 1

जिस समय आर्चर इंग्लैंड के लिए मैदान पर गेंदबाजी कर बल्लेबाजों के विकेट्स चटका रहे थे उस दौरान वह एक ऐसी तकलीफ से गुजर रहे थे, जिसे उनके सिवा कोई और महसूस भी नहीं कर सकता।

फाइनल मैच से एक दिन पहले कजिन की हो गई थी हत्या

आईसीसी वर्ल्ड कप फाइनल मैच को सुपर ओवर में जीत दिलाने के बाद इंग्लैंड के इस तेज गेंदबाज ने खुलासा किया कि वर्ल्ड कप के ओपनिंग मैच से ठीक एक दिन पहले उनके कजिन की बारबाडोसा में हत्या कर दी गई थी। इस बात का पता चलते ही आर्चर अंदर से टूट गए थे।

फाइनल खेलने से पहले हो गयी थी भाई की हत्या फिर भी खेलने उतरा और देश को जीताया इस खिलाड़ी ने पहला विश्व कप 2

लेकिन उन्होंने अपनी भावनाओं को किनारे करते हुए फैसला किया कि वह इस बात के बारे में किसी को नहीं बताएंगे और खेलना जारी रखेंगे।

आर्चर के पिता ने बताया यह दोनों थे काफी करीब

वर्ल्ड कप के जोफ्रा आर्चर के पिता फ्रैंक आर्चर ने कहा कि

जोफ्रा अपने कजिन एशांटियो ब्लैकमैन के काफी करीब थे और दोनों में खूब बनती थी। वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ ओपनिंग मैच से ठीक पहले एशांटियो ने जोफ्रा को मैसेज भी किया था। जोफ्रा वास्तव में उनकी मृत्यु से प्रभावित थे, लेकिन उन्हें आगे बढ़ना पड़ा।

आपको बता दें, आर्चर के कजिन 24 साल के अस्टेंटियो ब्लैकमैन की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

आर्चर के पिता ने उनकी ब्रिटिश नागरिकता पर उठ रहे सवालों का जवाब देते हुए कहा

“लोग उनकी ब्रिटिशता पर सवाल उठा रहे हैं, लेकिन इंग्लैंड के लिए खेलते हुए उन्होंने साबित कर दिया कि वह सभी को क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित करेंगे, क्योंकि यह अभिजात्य के रूप में देखा जाता है।”

बताते चलें कि आर्चर ने इंग्लैंड की टीम का हिस्सा बनकर 11 पारियों में कुल 20 विकेट्स निकाले।

Related posts