पाकिस्तान में एक बार फिर फिक्सिंग को लेकर उठी बात, इस पाकिस्तानी क्रिकेटर ने फिक्सिंग पर किया चौंकाने वाला खुलासा

RAJU JANGID / 16 April 2018

फवाद आलम पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में एक शानदार क्रिकेटर रहे हैं। हालांकि, उन्हें क्रिकेट खेलने का ज्यादा मौका नहीं मिला क्योंकि इन्होंने साल 2007 में डेब्यू किया था, लेकिन इन्हें अभी तक महज 3 टेस्ट और 35 वनडे में खेलने का मौक़ा मिला है. इस तरह इनका क्रिकेट कैरियर तनावपूर्ण रहा है। हाल ही में, आयरलैंड और इंग्लैंड के अपने दौरे के लिए पाकिस्तान टेस्ट टीम का चयन किया गया है और आलम को चयन समिति ने शामिल नहीं किया है।

इस बीच, मैच फिक्सिंग घोटालों में उनकी भागीदारी से जुड़ी अफवाहों पर कराची में जन्मे क्रिकेटर ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है और मीडिया के साथ हालिया इंटरैक्शन में उनको निराधार बताया है। जी हाँ, आपको बता दें कि ब्रेकोडर डॉट कॉम वेबसाईट के मुताबिक़ इस 32 वर्षीय क्रिकेटर ने अपने ऊपर लगे फिक्सिंग के आरोपों को सभी तरह से खारिज कर दिया है।

क्रिकेटर फवाद आलम ने दिया यह बयान

“मुझे लगता है कि मुझे खुद को समझाने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है। मेरा पूरा क्रिकेट कैरियर साफ हो गया है, फिक्सिंग करना एक बात है, मैं इसके बारे में भी सोच भी नहीं सकता। यदि ऐसी कोई समस्या थी, तो घरेलू क्रिकेट से बाहर रहने वाले कई खिलाड़ियों की तरह मैं घरेलू सर्किट में नहीं खेलना चाहता था।” इस तरह इन्होंने खुद को निर्दोष बताया।

पाकिस्तान ने 16 सदस्यीय टीम का चयन किया है जो डबलिन में आयरलैंड के खिलाफ एक टेस्ट खेल रहे हैं, जिसके बाद क्रमशः लॉर्ड्स और हैडिंगली में में इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले खेलने है। इस पाकिस्तनी टीम में पांच खिलाड़ी ऐसे हैं. जिन्होंने अभी तक अपने टेस्ट क्रिकेट कैरियर की शुरुआत तक नहीं की है।

इस तरह पूर्व क्रिकेटर और वर्तमान में सबसे बेहतरीन कमेंटेटर रमीज राजा ने भी टीम चयन पर आलोचना की है। यासीर शाह ने चोटिल होने के कारण पहले ही इस सीरीज के लिए बाहर हो चुके है।

इसके बाद चोटिल यासिर शाह की जगह शदाब खान को मौका मिला है, इस कारण पाकिस्तानी क्रिकेट पंडितों का यही कहना है, कि फवाद आलम को इसमें मौका नहीं मिलना अच्छी बात नहीं है।