एशिया कप फाइनल: अपने अपमान का बदला लेने के लिए भारतीय कप्तान ने बांग्लादेश के खिलाफ बनाया रणनीति

SAGAR MHATRE / 05 March 2016

कल मीरपुर में भारत और बांग्लादेश के बीच एशिया कप का फाइनल मैच खेला जाएगा. भारतीय टीम एक भी मैच हारे बिना फाइनल में पहुंची है, तो बांग्लादेश ने पाकिस्तान और श्रीलंका को हराकर ये मुकाम हासिल किया है. भारत और श्रीलंका ने 5-5 बार एशिया कप जीता है, और अगर कल भारत एशिया कप जीतता है, तो सबसे ज्यादा बार एशिया कप जीतने वाली टीम बन जाएगी.

इस मैच में भारत का पलडा भारी है, लेकिन टी ट्वेंटी में किसी भी टीम को हल्के में नहीं ले सकते, और खासकर बांग्लादेश को.

ये मैच बडा ही रोमांचक रहने की उम्मीद है, और दोनों टीमों के कई खिलाडियों के बीच शानदार जंग होगी.

बांग्लादेश को एक बडा झटका ये लगा है,कि उसका स्टार तेज गेंदबाज मुस्तफिजूर रहमान चोटिल होने के कारण फाइनल में नहीं खेलेंगे.

 

भारतीय टीम ये चाहेगी की, ये एशिया कप जीतकर टी ट्वेंटी विश्वकप में काफी आत्मविश्वास के साथ जाए, तो बांग्लादेश भी अपने घर में एशिया कप पहली बार जीतना चाहेगा.

बांग्लादेश को घरेलू समर्थन मिलेगा, जो भारत के लिए चिंता का विषय है. लेकिन भारतीय खिलाडियों के मुकाबले बांग्लादेशी खिलाडियों को फाइनल खेलने का अनुभव नहीं है.

भारतीय टीम ने पिछले 10 टी ट्वेंटी में से 9 मैच जीते है, और भारतीय टीम काफी संतुलित है. लेकिन भारतीय खिलाडियों पर बांग्लादेशी दर्शकों के सामने खेलने का दबाव रहेगा.

भारतीय टीम की सलामी जोडी में रोहित शर्मा ने शानदार प्रदर्शन किया है, तो धवन अच्छे फॉर्म में नहीं है.

कोहली सबसे बेहतरीन फॉर्म में है, तो युवराज ने भी पिछलीं दों पारीयों में कमाल का प्रदर्शन किया है.

भारतीय गेंदबाजी एकदम संतुलित है, और स्पिनर और तेज गेंदबाज दोनों शानदार प्रदर्शन कर रहे है.

टीमें:

भारत: महेंद्र सिंह धोनी(कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, सुरेश रैना, युवराज सिंह, हार्दिक पंड्या, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, आशीष नेहरा, जसप्रीत बुमरा, अजिंक्य रहाणे, हरभजन सिंह, पवन नेगी, भुवनेश्वर कुमार.

बांग्लादेश: मशरेफ मुर्तजा(कप्तान), तामिम इकबाल, सौम्य सरकार, शब्बीर रहमान, मुशफिकर रहीम, शाकिब अल हसन, महमूदुल्लाह रियाद, मोहम्मद मिथुन, अराफात सन्नी, तसकीन अहमद, अल अमीन हुसैन, नासिर हुसैन, अबु हिदेर , नुरूर हसन, इमरूल कायेस.

मैच का समय: शाम सात बजे से.

Related Topics