विश्व की सबसे खराब फील्डिंग टीम माने जाने वाली भारतीय टीम की अचानक से कैसे सुधर गयी फील्डिंग

sagar mhatre / 12 June 2016

अगर आप भारतीय क्रिकेट टीम को देखेंगे, तो आपको ये जरूर कहेंगे कि, भारतीय टीम की फिल्डिंग अब दुनिया में सबसे शानदार हैं. लेकिन पहले ऐसा नहीं था, लेकिन कुछ ही सालों में ये कमाल का बदलाव हमने भारतीय टीम की फिल्डिंग में देखा हैं. कुछ साल पहले की बात करे, तो भारतीय टीम की फिल्डिंग कुछ खास नहीं थी, एक या दो खिलाड़ी को छोड दे तो दुसरे फिल्डर कुछ खास नहीं थे. लेकिन अब पिछले कुछ सालों में भारतीय टीम की फिल्डिंग में कमाल का सुधार आया हैं, लेकिन सभी के मन में ये सवाल हैं कि, इस तेजी से सुधार आने के पीछे कौन हैं. आइये हम आपको बताते हैं.

TrevorPenneyO6aaR4jM617mपिछले एक दशक से भारतीय टीम फिल्डिंग में सुधार लाने की काफी कोशिशों में जुटी थी, लेकिन फिल्डिंग में असली सुधार साल 2011 के बाद आया. ये सुधार तब आया, जब ट्रेवोर पैनी भारतीय टीम के फिल्डिंग कोच बने. पहले भारतीय टीम के पास कोई ज्यादा अच्छे फिल्डर नहीं थे, लेकिन ट्रेवोर पैनी ने कमाल करते हुए भारतीय टीम को एक बेहतरीन फिल्डिंग टीम बनाया.raina-rahane-team-practice
पैनी एक पुलिसवाले हैं, जो काफी कड़े स्वभाव के हैं, और अपने कार्यक्रम में वे कोई बदलाव नहीं करते. फिल्डिंग में सुधार लाने के लिए पैनी ने एक आइडिया निकाला, जो ये था कि, हर खिलाड़ी को उन्होंने अलग अलग जगह खड़ा किया, और गेंद को स्टंप पर मारने को कहा, जिस वजह से खिलाड़ी मजे लेकर फिल्डिंग करने लगे. पैनी नये युवा खिलाड़ीयों से ज्यादा अभ्यास कराते थे, लेकिन पैनी के अलग अलग आइडिया के वजहों से खिलाड़ी फिल्डिंग में काफी ध्यान देने लगे.

india-fieldingफिर पैनी को भी समझ आया कि, उनका ये प्रयोग सफल हो गया हैं, और भारतीय टीम की फिल्डिंग को सभी ने 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में देखा, जब भारतीय टीम की फिल्डिंग ने अपना एक अलग स्थान बना लिया था. और इसके हकदार पैनी थे.

Related Topics