दक्षिण अफ्रीका

Ashes series: टेस्ट क्रिकेट इतिहास एक बहुत ही पुराना और लंबा है। टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत साल 1877 में होने के बाद इस फॉर्मेट ने आज एक बहुत ही नायाब सफर जारी रखा है। टेस्ट क्रिकेट में रोमांच को बढ़ाने के लिए साल 2015 में आईसीसी ने बदलाव करते हुए पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट का आगाज किया। Ashes series में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीम (AUS vs ENG) फिर से पिंक बॉल से टेस्ट क्रिकेट खेलने जा रही है।

पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट का चलन

पिंक बॉल टेस्ट की शुरुआत करने के पीछे दर्शकों में और भी ज्यादा दिलचस्पी बढ़ाने की वजह बड़ी है। जहां पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत की गई। इसके बाद कुछ-कुछ सीरीज के बीच में किसी एक मैच को डे-नाइट टेस्ट के रूप में खेला जा रहा है।

इतिहास का हिस्सा बना Ashes series, पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के नाम अनोखा रिकार्ड 1

इसी पिंक बॉल टेस्ट में आज लगभग हर बड़ी सीरीज में नजर आने लगा है। लेकिन अब तक के पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में किसी भी सीरीज में 1 से ज्यादा टेस्ट मैच नहीं खेले गए हैं।

किसी एक सीरीज में पहली बार 2 पिंक बॉल टेस्ट मैच

लेकिन टेस्ट क्रिकेट में पिंक बॉल यानी डे-नाइट टेस्ट (Pink Ball Test Match) पहली बार किसी सीरीज में खेले जाने वाले हैं। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ((AUS vs ENG) के बीच इन दिनों ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर एशेज टेस्ट सीरीज (Ashes series) खेली जा रही है।

इतिहास का हिस्सा बना Ashes series, पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के नाम अनोखा रिकार्ड 2

इस एशेज टेस्ट सीरीज (Ashes series) का पांचवां और अंतिम टेस्ट भी डे-नाइट के रूप में पिंक बॉल से खेला जाएगा। जो आज से शुरू होने जा रहा है। ये पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट के रूप में खेला जाएगा। ऐसे में ये टेस्ट मैच भी इतिहास में दर्ज होने वाला है।

ऑस्ट्रेलिया रही है पिंक बॉल में सबसे सफल

पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो ये साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट मैच के साथ शुरू हुआ था। जिसके बाद अब तक 18 पिंक बॉल टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं। इसमें सबसे ज्यादा सफल ऑस्ट्रेलिया की टीम रही है। जिन्होंने 9 में से 9 टेस्ट अपने नाम किए हैं।

इतिहास का हिस्सा बना Ashes series, पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के नाम अनोखा रिकार्ड 3

इसके अलावा भारत और श्रीलंका ने 3 में से 2 पिंक बॉल टेस्ट जीते हैं। तो वहीं इंग्लैंड ने 5 डे-नाइट टेस्ट खेले हैं, लेकिन वो केवल 1 टेस्ट में ही जीत हासिल कर सके। बांग्लादेश, जिम्ब्बावे और वेस्टइंडीज की टीमें अब तक पहली पिंक बॉल टेस्ट जीत का इंतजार कर रही है।