जानिए 5 ऐसे खिलाडी जिनका गंभीर चोटों के कारण समाप्त हुआ क्रिकेट कैरियर

क्रिकेट के खेल में किसी भी खिलाड़ी के लिए ये बेहद दुःख भरी बात होगी कि उसका करियर चोटों की वजह से ख़त्म हो गया हो. इस मामले में कई क्रिकेटर चोटों के बाद सफल वापसी करने में कामयाब रहे जबकि कुछ का खेल ही ख़त्म हो गया.

जानिए 5 ऐसे खिलाडी जिनका गंभीर चोटों के कारण हुआ क्रिकेट कैरियर समाप्त-

5. साइमन जोन्स:
साइमन जोन्स एक इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज है जिन्होंने 18 टेस्ट मैच और 8 एकदिवसीय मैच खेले हैं . उन्होंने लॉर्ड्स में वर्ष 2002 में भारत के खिलाफ अपने टेस्ट कैरियर की शुरुआत की थी.इन्होने 2005 में एक गंभीर चोट के खिलाफ संघर्ष किया और आखिरकार 2005 की एशेज टीम का एक अभिन्न हिस्सा बने. एशेज श्रृंखला में ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ जोन्स ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. लेकिन 2006/07 एशेज श्रृंखला में साइमन जोन्स फिर से सीमा रेखा के पास फिसलने से उनका घुटना बुरी तरह घायल हुआ, जिससे कि उनका करियर का ही अंत हो गया.

4. रेयान हैरिस :
रेयान हैरिस होनहार गेंदबाजों में से एक थे जिनका करियर कई चोटों ने बर्बाद कर दिया . 33 वर्षीय इस खिलाडी ने एशेज श्रृंखला के शुरू होने से पहले हाल ही में संन्यास लेने की घोषणा की थी. रेयान हैरिस ने कुल 27 मैच खेले जिनमे 23.52 की औसत से 113 विकेट लिए. उनके करियर की समाप्ति ऑस्ट्रेलिया के लिए एक बड़ा नुक्सान है.

3. क्रेग कीस्वेटर :
28 वर्षीय इस खिलाडी ने एक ट्वेंटी 20 टूर्नामेंट के दौरान आंखों में गंभीर चोट लगने के कारण अपने संन्यास की कुछ महीने पहले ही घोषणा की है. क्रेग ने कहा था कि -“मुझे लगता है कि मैं उन भाग्यशाली लोगों में से हूँ जो उस चीज़ से पैसा कमाते हैं जिसे कि वह सच में प्यार करते हैं.मैं बचपन से ही इस खेल के प्यार में पद गया था.”

2. सबा करीम :
सबा करीम का अंतर्राष्ट्रीय कैरियर बहुत छोटा रहा.जैसा कि इस खिलाडी को एक घरेलू सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत के लिए खेलने का मौका मिला पर वह टीम नहीं बना सका क्योंकि अनिल कुंबले की गेंद उसकी आँख में लगी .उसके बाद सर्जरी होने के बावजूद भी उसे टीम में वापसी नहीं मिली.

1. डेविड लॉरेंस:
डेविड लॉरेंस एक अंग्रेजी गेंदबाज थे जिन्होंने इंग्लैंड के लिए 5 टेस्ट और सिर्फ एक ही एकदिवसीय खेले हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में उनके घुटने पर गहरी चोट आई थी और वे दर्द से चिल्लाने लगे और तभी उन्हें स्ट्रेचर पर वहां से लेजाया गया. परिणाम स्वरुप 29 साल की उम्र में उन्हें रिटायर होना पड़ा.

Related Topics