पिछले 5 वर्षों में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत में असफल रहे पांच भारतीय क्रिकेटर | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पिछले 5 वर्षों में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत में असफल रहे पांच भारतीय क्रिकेटर 

पिछले पांच वर्षों में कई भारतीय क्रिकेटरों ने अपने पहले मैच में ही अपनी छाप छोड़ी है लेकिन कुछ खिलाडी ऐसे रहे जो अपने शुरुआती मैच में अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे पर बाद में भारत के लिए सफल क्रिकेटरों में शुमार हुए. आइये देखते हैं पिछले 5 वर्षों में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत में असफल रहे पांच भारतीय क्रिकेटर-

5. विराट कोहली :
मौजूदा भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट ने किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी शुरुआत की तब उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा था. इस दौरान विराट ने दो पारियों में बहुत कम स्कोर किया था एक में 4 का स्कोर और दूसरी में 15 रन बनाये थे. और बाद में इन्हे इंग्लैंड के दौरे के दौरान टीम से बाहर किया गया था.

4. पंकज सिंह :
पंकज सिंह घरेलू सर्किट में राजस्थान के लिए सफल गेंदबाज रहे हैं. जिस कारण इन्हे भारत के इंग्लैंड दौरे पर जाने का मौका मिला. लॉर्ड्स टेस्ट मैच में इशांत शर्मा की बढ़िया गेंदबाज़ी के बाद उन्हें आराम दिया गया, और उनकी जगह पंकज को खेलने का मौका मिला. लेकिन अपनी दोनों पारियों में वह कोई विकेट नहीं ले पाये.

 

3. कर्ण शर्मा :
कर्ण शर्मा ने आईपीएल में हर किसी का ध्यान आकर्षित किया. उसके बाद इन्हे वर्ष 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान राष्ट्रीय टीम के लिए बुलाया गया था. महेंद्र सिंह धोनी पहले टेस्ट मैच के दौरान घायल हो गए थे इसलिए विराट कोहली को कप्तान बनाया गया था और विराट ने बजाय अश्विन के शर्मा को चुना. कर्ण ने दोनों पारियों में 2 2विकेट तो लिए लेकिन उम्मीदो पर खरे नहीं उतरे.

2. अजिंक्य रहाणे :
लंबे इंतजार के बाद मुंबई के बल्लेबाज को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच में भारत के लिए खेलने का मौका मिला. भारत यह श्रृंखला जीता था लेकिन अजिंक्य ने दो पारी में मात्र 7 और 1 स्कोर किया.

1. विनय कुमार :
कर्नाटक से दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज विनय कुमार ने ऑस्ट्रेलिया के दौरे के दौरान वर्ष 2012 में भारत के लिए अपनी शुरुआत की. इस दौरान विनय ने 5.61 की अर्थव्यवस्था के साथ सिर्फ एक विकेट लिया. यही एक टेस्ट था जो वह भारत के लिए खेले और उसके बाद से टेस्ट टीम में अपनी जगह नहीं बना पाये.

Related posts

क्रिकेट

पिछले 5 वर्षों में अपने शुरुआती टेस्ट में ख़राब प्रदर्शन के साथ 5 भारतीय खिलाडी 

5. विराट कोहली :
वर्तमान भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपने करियर के शुरुआती दिनों में काफी संघर्ष किया जब किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की .भारत ने अपने पहले टेस्ट मैच में 63 रन से मैच जीत लिया था लेकिन इस दौरान विराट ने दो पारिया खेली और उनमे 4 और 15 रन ही बनाये थे. बाद में इंग्लैंड के दौरे के दौरान विराट को टीम से बाहर रखा गया. लेकिन फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्ष 2011 में विराट ने सफलता की सीढ़ी चढ़नी शुरू की.

4. पंकज सिंह:
पंकज सिंह घरेलू सर्किट में राजस्थान के लिए एक सफल गेंदबाज था जिसने कि भारत के इंग्लैंड दौरे के दौरान टीम में अपनी जगह बनाई. लेकिन दोनों परियों में पंकज कोई विकेट नहीं ले सका और रन पर रन देता गया. यहाँ इस गेंदबाज का प्रदर्शन ख़राब रहा लेकिन अगले टेस्ट मैच में वह कई विकेट्स लेने में सफल रहा.

3. कर्ण शर्मा:
कर्ण शर्मा ने आईपीएल में हैदराबाद की टीम के लिए खेलते हुए सबका ध्यान खींचा और वर्ष 2014 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान इन्हे राष्ट्रीय टीम के लिए बुलाया गया .जैसा कि महेंद्र सिंह धोनी पहले टेस्ट मैच के दौरान घायल हो गए थे तो विराट कोहली को कप्तान बनाया गया था .विराट ने आश्विन की जगह कर्ण को चुना. हालाँकि इस गेंदबाज ने दोनों पारियों में 2-2 विकेट लिए लेकिन इसका प्रदर्शन उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा.

2. अजिंक्य रहाणे :
एक लंबे इंतजार के बाद मुंबई के बल्लेबाज को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के आखिरी टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के लिए खेलने का मौका मिला. भारत ने तो श्रृंखला जीती थी लेकिन अजिंक्य का प्रदर्शन ख़राब रहा इस बल्लेबाज़ ने दो पारी में 7 और 1 स्कोर किया था.

1. विनय कुमार :
कर्नाटक के दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज ने ऑस्ट्रेलिया के दौरे के दौरान वर्ष 2012 में भारत के लिए खेलने की शुरुआत की. दो टेस्ट में भारत की हार के साथ एक विनाशकारी शुरुआत के बाद टीम ने महत्वपूर्ण पर्थ टेस्ट में चार तेज गेंदबाजों को चुना था. जिनमे विनय भी शामिल था लेकिन वह 5.61 की इकोनामी के साथ सिर्फ एक विकेट ही ले पाया. उसके बाद वह भारत के लिए अभी तक नहीं खेला है.

Related posts

Leave a Reply