दिल्ली डेयरडेविल्स की जीत के पांच नायक | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

करेंट इवेंट

दिल्ली डेयरडेविल्स की जीत के पांच नायक 

दिल्ली डेयरडेविल्स की जीत के पांच नायक

क्रिकेट डेस्क। भारतीय टीम से बाहर चल रहे 33 वर्षीय लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने शुक्रवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए घरेलू मैदान में आइपीएल-9 का अपना पहला मैच खेल रही दिल्ली डेयरडेविल्स को आठ विकेट से जीत दिलाई। “मैन ऑफ द मैच” अमित ने तीन ओवर में 11 रन देकर चार विकेट झटके। जिसकी वजह से किंग्स इलेवन पंजाब की टीम 20 ओवरों में नौ विकेट पर 111 रन ही बना सकी। आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए क्विंटन डिकॉक (59) और संजू सैमसन (33) ने दूसरे विकेट के लिए 91 रनों की साझेदारी करके डेविड मिलर की टीम की कमर तोड़ दी। दिल्ली की यह पहली जीत है।

आइए नजर डालते हैं दिल्ली को जीत दिलाने वाले पांच नायकों पर-

अमित मिश्रा-

लेग स्पिनर ने कोटला की धीमी पिच का भरपूर फायदा उठाकर पंजाब के बल्लेबाजो की खटिया खड़ी कर दी। मिश्रा ने केवल तीन ओवर में 11 रन देकर चार विकेट चटकाए। मिश्रा ने गुगली पर मनन वोहरा को क्लीन बोल्ड किया जो मैच का आकर्षण रहा। उनकी फ्लाइट और कटर का किसी के पास कोई जवाब नहीं मिला।

डिकॉक का धमाल-

दिल्ली ने नौ रन के कुल योग पर ही श्रेयस अय्यर (03) का विकेट गंवा दिया, लेकिन इसके बाद दक्षिण अफ्रीकी ओपनर क्विंटन डिकॉक और राजस्थान रॉयल्स से दिल्ली में आए संजू सैमसन ने 64 गेंदों में 91 रनों की साझेदारी करके मैच को एकतरफा कर दिया। डिकॉक ने इस दौरान फाइन लेग पर जो इकलौता छक्का मारा वह लाजवाब था। उन्होंने नौ शानदार चौके भी जड़े। जब 13वें ओवर में सैमसन आउट हुए तो दिल्ली को जीत के लिए सिर्फ 12 रनों की दरकार थी। उसे डिकॉक और पवन नेगी (08) ने आसानी से 39 गेंदें शेष रहते हासिल कर लिया। पंजाब इस सत्र में लगातार दूसरा मैच हारी है। इससे पहले उसे गुजरात लायंस ने पराजित किया था।

ओल्ड इज गोल्ड-

टी-20 क्रिकेट को युवाओं का खेल कहा जाता है, लेकिन टी-20 विश्व कप में भारत के लिए 36 वर्षीय गेंदबाज आशीष नेहरा ने कमाल दिखाया तो फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके जहीर खान ने उम्दा प्रदर्शन करके “ओल्ड इज गोल्ड” कहावत को सही साबित किया। 37 वर्षीय जहीर ने चार ओवर में 14 रन देकर एक विकेट लिया। जहीर के स्पेल से किंग्स इलेवन दबाव में आ गई।

संजू सैमसन-

संजू सैमसन उदीयमान खिलाड़ी हैं। उनमे बहुत क्षमता है और इसका परिचय उन्होंने पंजाब के खिलाफ दिया। संजू जब क्रीज पर आए तब टीम का स्कोर एक विकेट पर 9 रन था। इसके बाद उन्होंने डिकॉक के साथ शानदार साझेदारी की। संजू के रहते दिल्ली जीत की पटरी पर पहुंच गया था। सैमसन ने 32 गेंदों में तीन चौके व एक छक्के की मदद से 33 रन की संयमित पारी खेली। संजू के आउट होने से पहले दिल्‍ली की टीम जीत के करीब पहुंच चुकी थी।

मिचेल जॉनसन-

एक समय बल्लेबाजो के लिए खौफ बने जॉनसन सन्यास के बाद बिलकुल फीके नजर आ रहे हैं। पंजाब के कम स्कोर बनाने के बाद दिल्ली डेयरडेविल्स के बल्लेबाजों पर लगाम कसने की जरूरत थी, लेकिन जॉनसन ने 3 ओवर में 28 रन खर्च कर दिए। उनका इकॉनोमी रेट 9.33 का रहा। दिल्ली की जीत में इसलिए जॉनसन के योगदान को नहीं भूला जा सकता।

Related posts