भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने सीरीज के हीरो युजवेंद्र चहल को यह क्या कह डाला | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने सीरीज के हीरो युजवेंद्र चहल को यह क्या कह डाला 

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने सीरीज के हीरो युजवेंद्र चहल को यह क्या कह डाला

बैंगलोर में खेले गये तीसरे टी ट्वेंटी मैच में युजवेंद्र चहल ने 25 रन देकर 6 विकेट लिए और भारत ने इंग्लैंड को हराकर टी ट्वेंटी सीरीज 2-1 से जीत ली.

203 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 16.3 ओवर में अॉल आउट हो गयी और इंग्लैंड के आखिरी 8 विकेट सिर्फ 8 रन पर गिरे.भारतीय टीम के लिए अहम खिलाड़ी सिद्ध हो सकते हैं ऋषभ पन्त : गांगुली

युजवेंद्र चहल पहले भारतीय गेंदबाज बने जिन्होंने टी ट्वेंटी में 5 विकेट लिए तो वहीं टी ट्वेंटी में तीसरा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन भी रहा ये. सिर्फ श्रीलंका के अजंथा मेंडिस ने 2 बार 6 विकेट लिए हैं और टी ट्वेंटी में दूसरा कोई भी गेंदबाज 6 विकेट नहीं ले पाया हैं. अजंथा मेंडिस ने 8 रन पर 6 विकेट और 16 रन पर 6 विकेट 2 बार लिए हैं.

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने युजवेंद्र चहल के प्रदर्शन का श्रेय आईपीएल को दिया.

सौरव गांगुली ने कहा, कि

“युजवेंद्र चहल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के गेंदबाज हैं. तो उनको इस पिच का काफी अंदाजा हैं. युजवेंद्र चहल आईपीएल की देन हैं इसमे कोई दोहराई नहीं हैं. आईपीएल में युजवेंद्र चहल दिन भर दिन बेहतर हुए हैं. आईपीएल ने भारतीय टी ट्वेंटी टीम को काफी फायदा कराया हैं और युजवेंद्र चहल आईपीएल की देन हैं और कई खिलाड़ी आईपीएल की देन हैं.”

सौरव गांगुली ने कहा, कि

“भारतीय टीम ने कमाल का प्रदर्शन किया. जसप्रीत बुमराह के नागपुर में डाले गये आखिरी ओवर के बाद भारतीय टीम अलग टीम दिख रहीं हैं. भारत ने जब 200 रन बनाए तभी से ही इंग्लैंड हार गया था. 2012 में इंग्लैंड ने अच्छा प्रदर्शन किया था, लेकिन अब उन्होंने काफी खराब प्रदर्शन किया.”धोनी और युवराज के फ्लॉप होने के बाद सौरव गांगुली ने इन दोनों को लेकर कह दी ये बड़ी बात

सौरव गांगुली ने कहा, कि

“इस फॉरमेट में महेंद्र सिंह धोनी को उपर ही आधा चाहिए जो भारत के लिए बेहतर हैं. बाहर भी महेंद्र सिंह धोनी को 10 ओवर खेलने का मौका मिलना चाहिए जिससे वो सेट हो सके. अगर आप महेंद्र सिंह धोनी को 10 गेंदें खेलने का मौका देते हैं तो वो भी कुछ नहीं कर सकते, तो महेंद्र सिंह धोनी को ज्यादा से ज्यादा ओवर खेलने का मौका मिला तो वो काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं. विराट कोहली का ये फैसला अच्छा था.”

Related posts