पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, 'कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती' 1

कुछ दिनों पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन एहसान मनी ने एक बार फिर भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की थी. दुनिया जानती है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड दुनिया का सबसे अमीर बोर्ड है, इसलिए दुनिया के सारे क्रिकेट बोर्ड भारत से खेलने के लिए उत्साहित रहते हैं और वर्तमान में तो अगर कोई बोर्ड अगर भारत से खेलने को लेकर सबसे ज्यादा बेताब है, तो वो पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड है.

भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर ये शब्द कहे थे एहसान मनी ने

पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, 'कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती' 2

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन एहसान मनी ने अपने एक बयान में कहा, “भारत-पाकिस्तान द्विपक्षीय सीरीज को लेकर मैंने बीसीसीआई को बताया, कि हम हमेशा खेलने को तैयार हैं. ये उनकी कॉल है कि वे हमारे साथ खेलना चाहते हैं या नहीं. जब वे खेलने के लिए तैयार होंगे, तो हम भी खेलने के लिए तैयार रहेंगे.”

पीसीबी कई सालों से भारतीय बोर्ड को अपने संग सीरीज खेलने को लेकर मना रही है. सरकार की अनुमति ना होने के कारण भारतीय क्रिकेट बोर्ड से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को निराश होना पड़ रहा है.

पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, 'कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती' 3

कुत्ते की दम सीधी नहीं होती

पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, 'कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती' 4

क्रिकेट एडिक्टर वेबसाइट से बात करते हुए भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर सुरेंद्र खन्ना ने अपने एक बयान में कहा, “लंबे समय तक, क्रिकेट का इस्तेमाल एक राजनयिक उपकरण के रूप में किया गया था. अगर कुत्ते की दम को 20 साल भी नाली में रख दे, तो भी वह सीधी नहीं होती है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान के साथ हमें कोई द्विपक्षीय सीरीज खेलनी चाहिए.”

यह राजनीतिक मुद्दा, सरकार इससे निपटें

पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, 'कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती' 5

सुरेंद्र खन्ना ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, यह एक राजनीतिक मुद्दा है और इससे बेहतर होगा कि सरकार इससे निपटें, एक भारतीय के रूप में, मैं यही कहना चाहता हूं कि जब तक  वे नहीं बदलते, हमें उनके साथ कोई संबंध नहीं रखना चाहिए.”

बता दें, कि सुरेन्द्र खन्ना ने भारतीय टीम के लिए 1979 से लेकर 1984 तक कुल 10 वनडे मैच खेले थे. उन्होंने अपने खेले 10 वनडे मैचों में भारतीय टीम के लिए 22 की औसत से 176 रन बनाए थे. इस दौरान उन्होंने 2 अर्धशतक भी लगाए. वहीं विकेटकीपिंग में 4 कैच और 4 स्टंपिंग भी की थी.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul

One reply on “पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर ने कहा, ‘कुत्ते की दम 20 साल बाद भी सीधी नहीं होती’”

Comments are closed.