कभी क्रिकेट में विरोधी टीम कों परेशान करने वाले खिलाड़ी ने ओलम्पिक में मेडल

sagar mhatre / 20 August 2016

पुर्व दक्षिण अफ्रीकाई महिला अॉल राउंडर, सनेटे विजोन जिन्होंने साल 2000 और 2002 तक दक्षिण अफ्रीका के लिए 1 टेस्ट और 17 वनडे मैच खेले, वो गुरूवार को पिछले 96 सालों में ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बन गयी हैं. रियो ओलंपिक में सनेटे विजोन ने भाला फेक में सिल्वर मेडल जीता.

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने दिया विराट कोहली कों स्विंग गेंदबाजी के खिलाफ खेलने की सलाह

33 वर्षीय अफ्रीकाई एथलिट ने 64.92 मीटर का भाला फेका और सिल्वर मेडल जीता. सनेटे विजोन से बेहतर भाला सिर्फ क्रोयेशिया की सारा कोलक ने फेका, जिन्होंने 66.18 मीटर का भाला फेका और गोल्ड मेडल जीता. विजोन के मेडल के बाद दक्षिण अफ्रीका ने कुल 9 मेडल जीत लिए हैं, जिसमे 1 गोल्ड, 6 सिल्वर, और 2 ब्रॉंज मेडल हैं.
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए श्रीलंका ने कराया अपने दिग्गज खिलाड़ी की टीम में वापसी

पिछले लंदन में हुए ओलंपिक में विजोन चौथे नंबर पर रहीं थी, और मेडल जीतने से चुकी थी. तब विजोन ने 64.53 मीटर का भाला फेका था, और मेडल की कमी उन्होंने इस साल पुरी की.

विजोन ने अपना एकलौता टेस्ट मैच 2002 में भारत के खिलाफ खेला था, जिसमे उन्होंने 17 और 71 रनों की पारी खेली थी. वनडे करियर में विजोन ने कुल 198 रन और 5 विकेट लिए.

जब राहुल द्रविड़ कों आया गुस्सा और फेंकी दी ड्रेसिंग रूम में कुर्सी

विजोन से पहले ऐसी सफलता पाने वाला बस एक ही क्रिकेटर था, और उसका नाम जैक मैकब्रायन था. जैक मैकब्रायन इंग्लैंड के लिए 1 टेस्ट मैच खेले थे, और साल 1920 में उन्होंने इंग्लैंड हॉकी टीम की ओर से खेलते हुए गोल्ड मेडल जीता था. उनके अलावा जॉनी डगलस ने भी 1908 के ओलंपिक में बॉक्सिंग में गोल्ड मेडल जीता था. जॉनी डगलस ने इंग्लैंड के लिए 23 टेस्ट मैच खेले थे, और कुछ मैचों में कप्तानी भी की थी.

बालीवुड के शहंशाह Amitabh Bachchan ने जों कहा है उस पर पूरा देश सोचने पर मजबूर हों जायेगा