कोरोना वायरस

भारत में आग की तरह फैल रहे कोरोना वायरस से लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं। लेकिन इस महामारी से लड़ने के लिए आम इंसान का साथ देने के लिए भारत के क्रिकेटर्स, सेलिब्रिटीज व व्यापारी सामने आए हैं। मगर अब क्रिकेट में विराट कोहली, रोहित शर्मा, सचिन तेंदुलकर जैसे स्टार खिलाड़ियों छक्के-चौकों का हिसाब रखने वाले मुंबई क्रिकेट संघ के दीपक जोशी फ्रंट लाइन वॉरियर की तरह कार्यरत हैं और मुंबई में कोरोना मरीजों की सेवा कर रहे हैं।

पिछले एक महीने से घर नहीं लौटे

कोरोना वायरस

क्रिकेट की दुनिया में खिलाड़ियों के साथ-साथ मैदान पर कई ऐसे लोग भी मौजूद होते हैं जिन्हें आप नाम से नहीं जानते लेकिन उनके काम को आप अक्सर देखते हैं। असल में मुंबई क्रिकेट संघ के आधिकारिक स्कोरर के तौर पर घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर के कुल 328 मैचों में स्कोरिंग कर चुके दीपक जोशी मौजूदा वक्त में फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर के रूप में काम कर रहे हैं। जोशी ने पीटीआई से बात करते हुए बताया,

‘मैं 24 मई को तीन बसों और तीन घंटे से अधिक समय तक यात्रा करने के बाद अपने अस्पताल पहुंचा और तब से पूरे मनोयोग से अपना काम कर रहा हूं। मुझे हर दिन 8 घंटे काम करना पड़ता है और इस बीच मैं कोविड-19 के 15 से 20 संदिग्ध मरीजों को देखता हूं। मैं उनकी छाती का एक्सरे करता हूं।’

अस्पताल ने दी है ठहरने की जगह

कोरोना वायरस ने हर किसी के दिल में खौफ पैदा कर दिया है। ऐसे में फ्रंट लाइन वॉरियर्स जिसमें नर्स, डॉक्टर्स, पुलिस व सफाई कर्मचारियों को हम और आप जितना भी धन्यवाद दें, कम ही होगा। ये फ्रंट लाइन वॉरियर्स देश की रक्षा के लिए अपनी जान की परवाह किए बिना कार्यरत हैं। जोशी ने आगे बताया,

‘मैं 24 मई के बाद अपने घर नहीं गया। अस्पताल ने मुझे ठहरने के लिए जगह उपलब्ध कराई है और मैं वहीं रहता हूं। मैं इसके लिए होटल प्रबंधन का आभारी हूं। मेरी पत्नी और बेटियां मेरी सुरक्षा को लेकर चिंतित रहती हैं लेकिन तब भी वे मुझे काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। वे चाहती हैं कि मैं अपनी सुरक्षा के लिए जरूरी उपाय करूं। उनका सहयोग मेरे लिए काफी मायने रखता है।’

भारत में कोरोना के आंकड़े

कोरोना वायरस

भारत में कोरोना वायरस आग की तरह फैल रहा है। भारत में कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या 4 लाख 25 हजार पहुंच चुकी है। जिसमें से 2 लाख 37 हजार लोग रिकवर हो गए हैं और 13 हजार 699 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। फिलहाल कई देश वैक्सीन बनाने का दावा तो कर रहे हैं लेकिन अब तक कोई वैक्सीन तैयार नहीं हो सकी है। ऐसे में खुद की और आपके परिवार की सुरक्षा अपने हाथों में है।