सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली अब ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। गांगुली की अवरुद्ध धमनियों को खोलने के लिए तीन दिन पहले एंजियोप्लास्टी की गई थी। ये जानकारी खुद अधिकारियों ने दी है। हृदय संबंधी दिक्कतों के कारण 48 वर्षीय सौरव गांगुली को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सौरव गांगुली हुए अस्पताल से डिस्चार्ज

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को 28 जनवरी को कोलकाता के अपोलो ग्लेनेगल्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी एंजियोप्लास्टी की गई थी। अब सौरव गांगुली की तबियत ठीक हो चुकी है इसलिए अस्पताल से उन्हें छुट्टी दे दी गई है। अपोलो अस्पताल के डॉ. राणा दासगुप्ता ने गांगुली के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देते हुए संवाददाताओं से कहा, “वह बिल्कुल ठीक है।”

एक महीने में दूसरी बार हुआ सीने में दर्द

सौरव गांगुली को जनवरी महीने की शुरुआत में सीने में दर्द की समस्या होने पर वुडलैंड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनके ‘ट्रिपल वेसेल डिजीज’ से पीड़ित होने का पता चला था और एंजियोप्लास्टी हुई थी और उन्हें 7 जनवरी को उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी दी गई थी। उन्होंने लगभग पांच दिन अस्पताल में बिताए थे। अब अपोलो अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने कहा,

‘‘गांगुली की सेहत ठीक है और उनका हृदय सामान्य व्यक्ति की भांति सेहतमंद है। उनका स्वास्थ्य बहुत तेजी से ठीक हुआ है और हमें उम्मीद है कि कुछ ही दिन में वह सामान्य जीवन जी सकेंगे।”

दादा ने पिछली बार खुद को बताया था स्वस्थ्य

सौरव गांगुली

एक ही महीने में 2 बार सौरव गांगुली के सीने में दर्द की समस्या हो चुकी है, जिसके लिए वह अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। गांगुली के फैंस उनकी सेहत को लेक काफी परेशान हैं। हालांकि सूत्रों की मानें तो चिंता की कोई बात नहीं है। पिछली बार जब वुडलैंड अस्पताल से सौरव गांगुली को डिस्चार्ज किया गया था तो उन्होंने खुद को स्वस्थ्य बताते हुए डॉक्टर्स को धन्यवाद कहा था। उन्होंने कहा था कि ,

”अब मैं पूरी तरह से स्वस्थ महसूस कर रहा हूं। मैं इलाज के लिए अस्पताल में डॉक्टरों का शुक्रिया अदा करता हूं। अब मैं बिल्कुल ठीक हूं।”