सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट टीम पिछले काफी वक्त से बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है. लेकिन तीनों फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शऩ कर रही टीम इंडिया इन दिनों एक अंदरुनी समस्या से जूंझ रही है. असल में एक के बाद एक तेज गेंदबाज इंजरी का शिकार हो रहे हैं. जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और अब दीपक चाहर. ऐसे में ये मुद्दा काफी संवेदनशील बन चुका है. इसपर चर्चा करने के लिए बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने एनसीए के चेयरमैन राहुल द्रविड़ को बुलाकर मुंबई में बातचीत करेंगे.

गांगुली ने द्रविड़ को बुलाया ऑफिस

सौरव गांगुली

सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ भारतीय क्रिकेट टीम के सम्मानित खिलाड़ियों में से हैं. जिसमें गांगुली बीसीसीआई के प्रेसिडेंट हैं और द्रविड़ एनसीए के चेयरमैन हैं. ऐसे में भारतीय खिलाड़ियों को लगातार हो रही इंजरी और एनसीए से लापरवाही की खबरों पर बात करने के लिए सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ को दफ्तर बुलाया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, खिलाड़ियों की चोट के मुद्दे पर गुरुवार को सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ के बीच चर्चा होने वाली है. ये दोनों दिग्गज नेशनल क्रिकेट एकेडमी के इर्द-गिर्द घूम रहे मुद्दों पर चर्चा करेंगे, जिसमें खिलाड़ियों की चोट सबसे अहम है.

लापरवाही की खबरें आ रही सामने

सौरव गांगुली

जसप्रीत बुमराह का टेस्ट लेने से इंकार करने पर अब सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ को अपने ऑफिस बुलाया 1

भारतीय क्रिकेट टीम में इंजर्ड होने वाले खिलाड़ियों को एनसीए में रिकवरी के लिए भेजा जाता है. लेकिन पिछले कुछ वक्त से एनसीए के काम से लापरवाही की बू आ रही है. भुवनेश्वर कुमार का उदाहरण देखा जाए तो, लंबे वक्त तक एनसीए में रिकवरी पर काम करने और फिजियो द्वारा सभी फिटनेस टेस्ट पास करने के बाद ही भुवी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में टीम इंडिया में वापसी की थी.

लेकिन टी20 मैच खेलने के बाद फिर उन्होंने स्पोर्ट्स हार्निया की समस्या हुई और उन्हें टीम से बाहर होना पड़ा. साथ ही जसप्रीत बुमराह-हार्दिक पांड्या ने भी एनसीए जाने से इंकार कर दिया था.

सीओए पर भी होगी चर्चा

जसप्रीत बुमराह का टेस्ट लेने से इंकार करने पर अब सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ को अपने ऑफिस बुलाया 2

द्रविड़ के साथ बैठ के साथ ही बोर्ड की कई क्रिकेट अडवाइजरी कमिटी (सीएसी) पर भी नजर रहेगी. गांगुली ने पहले ही साफ कर दिया है कि सीएसी की का काम सिर्फ सिलेक्शन कमिटी का चयन होगा. इतना ही नहीं बीसीसीआई तीन के बजाए दो सदस्यीय सीएसी का गठन भी कर सकती है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट्स की मानें तो, हितों के टकराव के मामले पर भी चर्चा की जाएगी. कुछ वक्त पहले राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली खुद भी इसमें फंस चुके हैं. सौरव गांगुली पहले भी कह चुके हैं और अब इस बैठक में भी वह संविधान में क्लॉज 38 (हितों के टकराव) में संशोधन की आवश्यकता है.