गौतम और वीरू फिर मैदान में, अब ट्विटर पर खेल रहे अपनी धमाकेदार पारी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

गौतम और वीरू फिर मैदान में, अब ट्विटर पर खेल रहे अपनी धमाकेदार पारी 

गौतम और वीरू फिर मैदान में, अब ट्विटर पर खेल रहे अपनी धमाकेदार पारी

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी गौतम गंभीर इस समय नई दिल्‍ली के बदतर हालातों से जूझ रहे हैं। बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने दिल्‍ली सरकार पर अपनी भड़ास निकालने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। गंभीर के ट्विटर मैदान में उतरते ही इस खेल के माहिर खिलाड़ी सहवाग भी मैदान में उतर आये हैं। अब जब दो यार मिल बैठेंगे संग तो खूब रंग तो जमने ही हैं।

यह भी पढ़े : पियर्स मोर्गन ने लगाया सहवाग से 10 लाख का शर्त, लेकिन सहवाग के जबाब के बाद डिलीट कर दी ट्वीट

दरअसल मामला यह है कि कुछ घंटो की बारिश के होने से दिल्‍ली का हाल बेहाल है। गंभीर ने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर इशारा करते हुए कहा कि क्‍या वो दिल्‍ली की छोटी- मोटी दिक्‍कतों को भी दूर नहीं कर सकते। अब हमे नाव खरीद लेना चाहिए।

गंभीर के ट्विटर पर एक व्यक्ति ने ट्वीट कर कहा ‘राजधानी डूबने को है’। नादान परिंदे घर आजा…. बारिश केरल से दिल्‍ली आ गयी, लेकिन मुख्‍यमंत्री पंजाब से ही ना आ पाये. ‘टूटी सड़के बुरा हाल, कहां खो गये केजरीवाल।

यह भी पढ़े : इंग्लैंड के पत्रकार ने दिया सहवाग को चैलेंज, कहा भारत के ओलिम्पिक गोल्ड से पहले इंग्लैंड जीतेगा विश्वकप

 

सहवाग ने भी चुटकी लेते हुए कहा सही है दोस्‍त, लेकिन दो नाव खरीदना एक सम संख्‍या और एक विषम संख्‍या की। ऐसा करके सहवाग ने केजरीवाल के यातायात के इवेन और ऑड नंबर के नियम पर भी मजे ले लिये। सहवाग का यह ट्वीट सहवाग के असली अकाउंट से नहीं बल्कि एक फैन ने उनके नाम से बनाये फेक अकाउंट से किया था।

 

गंभीर के इस ट्वीट की श्रृंखला में नगर निगम के कार्यो की असफलता और मक्‍कारी पर भड़ास निकाली जा रही है। इन्‍हीं ट्वीटस में एक ट्वीट में गंभीर ने कहा कि अब हमें अपनी अपनी नाव खरीदना शुरू कर देना चाहिए। क्योंकि दिल्‍ली सरकार और सरकारी कामकाज दिल्‍ली की साधारण समस्‍याओं को कभी सुलझा नहीं पायेगा।

यह भी पढ़े : गेंदबाजों ने रचा इतिहास, दुनिया के दस सबसे महंगे खिलाड़ियों में शुमार, 2 भारतीय भी शामिल

अब पूरा मामला केजरीवाल के इर्द गिर्द घूम रहा है। हर कोई अपने मन की बात इस माध्‍यम का सहारा लेकर दिल्‍ली की व्‍यवस्‍था का मजाक बना रहा है। आभी सरकारी महकमे में इस पर कोई हलचल नहीं हुई है। लेकिन ऐसा नहीं है कि कुछ होगा नहीं। मामला मजेदार है और आगे बहुत कुछ होने को है।

Related posts

Comments are closed.