गौतम गंभीर ने कहा शिखर धवन के अतिरिक्त किसी अन्य खिलाड़ी को मौका देना चाहिए

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

29 गेंदों में 32 रनों की धीमी पारी के बाद शिखर धवन के विरोध में उतरे गौतम गंभीर, टीम से बाहर करने की उठाई मांग 

29 गेंदों में 32 रनों की धीमी पारी के बाद शिखर धवन के विरोध में उतरे गौतम गंभीर, टीम से बाहर करने की उठाई मांग

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने टी20 आई क्रिकेट में शिखर धवन की लगातार ख़राब फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम मनेजमेंट से धवन के अतिरिक्त किसी अन्य खिलाड़ी को मौक़ा देने की बात कही है. दरअसल भारत ने इंदौर में श्रीलंका के साथ दूसरे टी20 को 7 विकेट से जीत लिया है. इस मैच के बाद नवदीप सैनी से लेकर शार्दुल ठाकुर और केएल राहुल सबकी तारीफ हो रही है. लेकिन टीम इंडिया के लिए लंबे वक्त बाद वापसी कर रहे शिखर धवन ने रन बनाए फिर भी उन्हें फैंस ने ट्रोल कर दिया.

गौतम गंभीर ने शिखर धवन की फॉर्म पर खड़े किये सवाल

धवन ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में अपनी पारी में 29 गेंदों का सामना किया और मात्र 32 रन बनाए. इसके बाद वो डी सिल्वा की गेंद पर एलबीडब्लयू आउट होकर पवेलियन वापस चले गए. इंदौर के छोटे मैदान पर भी उनकी पारी में महज़ दो चौके आए. उनकी इस धीमी पारी तथा पिछले टी20 आई रिकार्ड्स को देखते हुए गौतम गंभीर ने धवन के आगामी टी20 विश्वकप में उनकी जगह को लेकर सवालिया निशान खड़ा किया है.

गौतम गंभीर ने कहा

29 गेंदों में 32 रनों की धीमी पारी के बाद शिखर धवन के विरोध में उतरे गौतम गंभीर, टीम से बाहर करने की उठाई मांग 1

“शिखर धवन ने अभी तक टी20 क्रिकेट में कुछ ख़ास नहीं किया है. अगर आप उनके टी20 आई स्टैट्स को देखें तो आपको पता चलेगा की उनके आंकड़े ज्यादा प्रभावित करने वाले नहीं हैं. ऐसे में मेरे ख्याल से भारतीय टीम को शिखर धवन से हटकर किसी और खिलाड़ी के बारे में सोचना चाहिए.”

शिखर धवन ने टी20 आई में एक साल से नहीं लगाया है एक भी अर्धशतक

29 गेंदों में 32 रनों की धीमी पारी के बाद शिखर धवन के विरोध में उतरे गौतम गंभीर, टीम से बाहर करने की उठाई मांग 2

बाएं हाथ के बल्लेबाज धवन का स्ट्राइक रेट पिछले कुछ समय में सीमित ओवरों के क्रिकेट में चिंता का विषय रहा है और श्रीलंका के खिलाफ दुसरे टी 20 मैच में बभी उनका स्ट्राईक रेट 105 के करीब रहा है. अब धवन को बाकी बचे एक टी20 मैच में स्ट्राईक रेट में सुधार करना होगा. धवन 2019 में चोटों से काफी परेशान रहे और एक बार फिर वापसी करते हुए उनकी राह चुनौतीपूर्ण होगी. पिछले साल धवन ने 12 मैचों में 110 के स्ट्राइक रेट से 272 रन बनाए. वे इस दौरान एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए हैं.

केएल राहुल की लाजवाब फॉर्म है बरकरार

29 गेंदों में 32 रनों की धीमी पारी के बाद शिखर धवन के विरोध में उतरे गौतम गंभीर, टीम से बाहर करने की उठाई मांग 3

दूसरी तरफ राहुल ने मौकों का पूरा फायदा उठाया और पहले तो वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीमित ओवरों की पिछली श्रृंखला (तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय और तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय) की छह पारियों में एक शतक और तीन अर्धशतक जड़े. वहीं श्रीलंका के खिलाफ दुसरे टी20 मैच में भी 173 की शानदार स्ट्राईक रेट से 32 गेंदों में 45 रन बनाये. राहुल की इस फॉर्म को देखते हुए लगत है

कि वो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 14 जनवरी से शुरू हो रहे 3 मैचों की सीरीज में भारत के दुसरे सलामी बल्लेबाज होंगे. भारतीय कप्तान विराट कोहली भी कह चुके हैं कि श्रीलंका के खिलाफ श्रृंखला से आराम मिलने के बाद रोहित शर्मा जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पारी का आगाज करने के लिए वापसी करेंगे तो धवन और राहुल के बीच से किसी एक का चयन करना आसान नहीं होगा.

Related posts