भारतीय टीम की फिटनेस पर गौतम गंभीर ने दिया बयान, महिला क्रिकेट पर भी बोले

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम की फिटनेस पर गौतम गंभीर ने दिया बयान, महिला क्रिकेट पर भी बोले 

भारतीय टीम की फिटनेस पर गौतम गंभीर ने दिया बयान, महिला क्रिकेट पर भी बोले

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज गौतम गंभीर इन दिनों राजनीति में पैर जमा चुके हैं. भारतीय क्रिकेट इतिहास में अपना नाम सुनहरे अक्षरों से लिखवाने वाले गंभीर भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस की तारीफ करते नजर आए हैं. असल में मौजूदा वक्त में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली फिटनेस फ्रीक हैं, तो उनके नेतृत्व में टीम के बाकी खिलाड़ियों की फिटनेस का स्तर भी काफी अच्छा हो गया है.

गौतम गंभीर ने की फिटनेस की तारीफ

गौतम गंभीर

2007, 2011 की आईसीसी विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा रहे गौतम गंभीर इन दिनों राजनीति में कदम जमा चुके हैं लेकिन वह क्रिकेट से दूर नहीं हुए हैं. अब एक कार्यक्रम के दौरान गौतम गंभीर ने भारतीय क्रिकेट टीम की फिटनेस के बारे में एनआई से बात करते हुए कहा,

अगर आप मौजूदा भारतीय टीम के खिलाड़ियों को देखते हैं, तो वे पहले के समय की तुलना में शारीरिक रूप से बहुत अधिक फिट हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि पहले, फिजिकल फिटनेस को इतना महत्व नहीं दिया गया था. जब से टी 20 फॉर्मेट आया है, क्रिकेट एक शारीरिक खेल बन गया है.

हमारे वक्त में फिटनेस नहीं टैक्निक से खेलते थे क्रिकेट

टी20 फॉर्मेट के आने से क्रिकेट काफी तेज हो गया. एक तरफ बल्लेबाज हर गेंद को बाउंड्री पार पहुंचाने की ताक में रहता है तो वहीं गेंदबाजों पर भी प्रेशर काफी बढ़ गया है. फटाफट फॉर्मेट में टीम इंडिया शानदार प्रदर्शऩ कर रही है, इसके पीछे कहीं न कहीं खिलाड़ियों की फिटनेस को ही जाता है. टी20 क्रिकेट के आने से पहले क्रिकेट में फिटनेस की इतनी डिमांड नहीं थी. इसपर गंभीर ने एक कार्यक्रम में कहा,

जब मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था, तब कोई टी 20 क्रिकेट नहीं था. यह एक शारीरिक खेल नहीं था, बल्कि एक तकनीकी था. लेकिन अगर अब आप शारीरिक रूप से फिट नहीं हैं, तो मुझे नहीं लगता कि आप किसी में अच्छा कर सकते हैं.

लड़कियों को खेल को गंभीरता से लेना चाहिए

गौतम गंभीर

गौतम गंभीर हमेशा से ही क्रिकेट को बढ़ावा देते हैं. देश की लड़कियों को 2017 में महिला विश्व कप सेमीफाइनल का हिस्सा रहने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम से प्रेरणा लेने की बात करते हुए कहा,

अगर लड़कियां किसी भी खेल को लेती हैं, तो यह भारत को एक स्पोर्ट्स कंट्री बनाने के हमारे दृष्टिकोण की दिशा में एक बड़ा कदम है. मैं चाहता हूं कि लड़कियां क्रिकेट को गंभीरता से लें क्योंकि पुरुष इसे लेते हैं. यदि आप वर्तमान महिला टीम को देखते हैं, तो उन्होंने विश्व खेला है. कप सेमीफाइनल और उससे पहले, वे विश्व कप के रनर अप रहे हैं. यह देश के लिए बहुत अच्छा संकेत है.

Related posts