गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना 

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले का कप्तान विराट कोहली के साथ हुए विवाद के बाद अपने पद से इस्तीफा देने का मामला भारतीय क्रिकेट इतिहास में हमेशा याद रखा जाएगा। भारतीय क्रिकेट टीम के साथ अपना शानदार एक साल का कार्यकाल देने के बाद दिग्गज खिलाड़ी अनिल कुंबले ने मुख्य कोच के पद से इस्तीफा दे दिया। अनिल कुंबले और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के बीच तनातनी और अनबन की खबरें चरम पर रही।

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना 1

कुंबले को विराट को साथ हुए विवाद के बीच देना पड़ा इस्तीफा

अनिल कुंबले के खिलाफ कप्तान कोहली ने पूरी टीम का समर्थन हासिल करने के बाद उन्हें अपने पद से  इस्तीफा दिलवा दिया जिसे किसी भी तरह अपनामजनक रूप से कम नहीं माना जा सकता है। अनिल कुंबले के इस्तीफे के साथ ही विराट कोहली ने अपने सबसे चहेते रवि शास्त्री को 2 साल के लिए कोच का पद दिलवा दिया। लेकिन इन सबके बीच कुंबले का इस्तीफा एक काले अध्याय के रूप में जुड़ गया।पूर्व कोच कुंबले से मिलना चाहते है शास्त्री, कर रहे है कुंबले के रास्ते पर चलने की तैयारी, बढ़ सकती है कप्तान की मुश्किल

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना 2

कुंबले को मामलें को बीसीसीआई को संभालना था पेशेवर तरीके से

पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले के इस तरह से इस्तीफा देने को लेकर पहली बार भारतीय क्रिकेटर रह चुके गौतम गंभीर ने चुप्पी तोड़ी और माना कि कुंबले इस तरह से जाने के काबिल नहीं थे। गौतम गंभीर ने कहा कि “बीसीसीाई को इस मामलें को और अच्छे और पेशेवर तरीके से संभालना था। आपको अनिल कुंबले जैसे लीजेंड खिलाड़ी का बहुत अच्छे से सम्मान करना चाहिए था। वो उन शख्सों में से एक हैं जिन्होनें भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दिया है और साथ ही कप्तान के तौर पर भी दिया है।” 

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना 3

कुंबले के साथ नहीं किया गया अच्छा व्यवहार

इसके साथ ही भारतीय टीम के धाकड़ सलामी बल्लेबाज रह चुके गौतम गंभीर ने कहा कि “उनके साथ तो ऐसा किया गया मानों भूल के उनकी नियुक्ति की गई हो। जहां तक कोच की बात है चाहे कोच के रूप में अनिल कुंबले हो या रवि शास्त्री सबसे ज्यादा मायने ये रखता है कि भारत जीतना चाहिए। कभी भी सभी कोच के कार्यकाल का विश्लेषण नहीं किया जाता है। टीम के प्रदर्शन पर नजर देखी जाती है।”SW फ़्लैशबैक: 2008 टेस्ट सीरीज में डीआरएस और अजंता मेंडिस बने थे भारत का सरदर्द, गांगुली और कुंबले को लेना पड़ा सन्यास

गौतम गंभीर ने अनिल कुंबले के साथ हुए बर्ताव के लिए बीसीसीआई की जमकर की आलोचना 4

Related posts