शुभमन गिल ने बताया, ड्रेसिंग रूम में क्या सीखने को मिला

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

शुभमन गिल ने बताया इंडिया ए और सीनियर टीम के ड्रेसिंग रूम में क्या है अंतर 

शुभमन गिल ने बताया इंडिया ए और सीनियर टीम के ड्रेसिंग रूम में क्या है अंतर
Indian cricket player Shubman Gill, center, talks with head coach Ravi Shastri, right, at the nets during a training session in Visakhapatnam, India, Tuesday, Oct. 1, 2019. India and South Africa are scheduled to play the first test cricket match of the three-match series from Wednesday. (AP Photo/Mahesh Kumar A.)

युवा भारतीय बल्लेबाज शुभमन गिल को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम में जगह मिली थी। तीन मैचों की उस सीरीज में उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। टीम के सलामी बल्लेबाज से लेकर मध्यक्रम तक ने अच्छा खेल दिखाया और इसी वजह से गिल को सभी मैचों में बेंच पर ही रहना पड़ा।

शुभमन गिल ने बताया अनुभव

शुभमन गिल ने बताया इंडिया ए और सीनियर टीम के ड्रेसिंग रूम में क्या है अंतर 1

शुभमन गिल को भले ही एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला लेकिन उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला। उन्होंने बताया कि बड़े खिलाड़ियों के साथ रहकर मैच से पहले उनकी तैयारियों को देखने और समझने का मिला। एक कार्यक्रम में इसपर उन्होंने कहा

“मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला है। जब आप बड़े खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम में रहते हैं हैं, तो आप देखते हैं कि वे मैच से पहले कैसे तैयार होते हैं। बल्लेबाजी करने जाने से पहले किस तरह से फोकस करते हैं, वे क्या करते हैं और मैच परिस्थितियों में कैसे अपनी पारी को बुनते हैं।”

बांग्लादेश के खिलाफ भी मौका

शुभमन गिल

भारतीय टीम अभी बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज खेल रही है। इस टीम में शुभमन गिल को मौका नहीं मिला है लेकिन टेस्ट सीरीज के लिए वह टीम का हिस्सा हैं। दो मैचों के इस सीरीज की शुरुआत 14 नवंबर से हो रही है।

सीरीज का पहला मैच इंदौर जबकि दूसरा कोलकाता में खेला जायेगा। कोलकाता में होने वाला डे-नाइट टेस्ट होगा। भारतीय टीम पहली बार पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेगी।

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड

शुभमन गिल ने बताया इंडिया ए और सीनियर टीम के ड्रेसिंग रूम में क्या है अंतर 2

शुभमन गिल का प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड रहा है। उन्होंने अभी तक 15 प्रथम श्रेणी मैच के 25 पारियों में करीब 70 की औसत से 1535 रन बनाये हैं।

इसमें 4 शतक और 9 अर्धशतक भी शामिल है। चार शतक में दो बार उन्होंने 200 का आंकड़ा भी पार किया। रणजी ट्रॉफी के पिछले सीजन में 268 रनों की पारी खेलने के अलावा इसी साल वेस्टइंडीज में इंडिया ए के लिए भी दोहरा शतक जड़ा।

Related posts