पूरी पाकिस्तान की टीम भी मिलकर नहीं बना सकी पिछले 2 सालों में उतने शतक, जीतने अकेले बना चुके हैं विराट 1

विराट कोहली को यूं ही महान नहीं कहा जाता, जब टीम संकट में फंसी हुई होती है, तो कोहली विराट रुप में आ जाते है. परिस्थिति के अनुसार खेलने वाला ही खिलाडी़ ही महान होता है. जब टीम संकट में फंसी थी. उस समय बल्लेबाजी करने उतरे भारतीय कप्तान विराट कोहली ने धैर्य का परिचय देते हुए टीम को संकट से उबारने की पूरी कोशिश की.

पूरी पाकिस्तान की टीम भी मिलकर नहीं बना सकी पिछले 2 सालों में उतने शतक, जीतने अकेले बना चुके हैं विराट 2

टीम का स्कोर 27 रन पर 3 विकेट था, उस समय क्रीज पर बल्लेबाजी करने उतरे विराट ने सूझबूझ का परिचय देते हुए रांची के नवाब कहे जाने वाले धोनी के साथ 58 रनों की साझेदारी की. इसके बाद जंपा ने धोनी को बोल्ड कर दिया.

एक समय ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया संकट में फंस गई है, लेकिन क्रीज पर मौजूद विराट कोहली ने एक बार फिर दिखा दिया कि उन्हें आखिर किस लिए जाना जाता है. कोहली ने 95 गेंदो पर 123 रन की पारी खेली, जिसमें 16 चौके और 1 छक्का शामिल रहा.

इस दौरान कोहली ने आक्रामकता दिखाई और टीम के स्कोर को जाधव के साथ मिलकर 170 के पार पहुंचा दिया. जब कोहली 123 रन पर खेल रहे थे, उस समय जंपा के द्वारा चाली गई एक गेंद को कप्तान कोहली समझ नहीं पाए, और आउट हो गए. कोहली के विकेट के साथ ही भारत की उम्मीदें भी ध्वस्त हो गई.

पूरी पाकिस्तान की टीम भी मिलकर नहीं बना सकी पिछले 2 सालों में उतने शतक, जीतने अकेले बना चुके हैं विराट 3

भारत को उम्मीद थी कि ओस जोकि उनके लिए 12वें खिलाडी़ के रुप में टीम में शामिल रहेगा, लेकिन ऐसा न हो पाने कारण गेंद को टर्न मिली और भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी होने लगी. कोहली ने इस दौरान अपना 41 वां एकदिवसीय शतक मारा. वह धीरे धीर भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के शतकों के पास पहुंच रहे है, विराट कोहली ही है जो सचिन के रिकार्ड को तोड़ सकते है.

इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे विजय शंकर ने भारत को जीत की तरफ आगे बढ़ाया, लेकिन वह इस काम को अंजाम तक नहीं पहुंचा सके. विजय शंकर ने इस दौरान 32 रन बनाए. इनके आउट होने के बाद भारत का सपना टूट गया, और आस्ट्रेलिया ने अपनी पहली जीत हासिल की.

पूरी पाकिस्तान की टीम भी मिलकर नहीं बना सकी पिछले 2 सालों में उतने शतक, जीतने अकेले बना चुके हैं विराट 4

एक स्टेट ने खुलासा किया कि कोहली ने 2017 से लेकर अभी तक तक चार देशों से अधिक शतक बनाए है, ये उनका 15 वां शतक था.  इस श्रेणी में  पाकिस्तान (14), बांग्लादेश (13), वेस्टइंडीज (12) और श्रीलंका से अधिक है ( 10) और दक्षिण अफ्रीका (15) के शतकों की संख्या के बराबर है.

अगर शतकों की संख्या को जोड़ दिया जाए तो इस समय भारत की तरफ से कुल 37 शतक जमाए गए है. आने वाले समय में कोहली का ये विराट रुप सचिन के रिकार्ड को भी तोड़ सकता है.

 

अगर आपकों हमारा आर्टिकल पसंद आया, तो प्लीज इसे लाइक करें. अपने दोस्तों तक ये खबर सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें. साथ ही अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो प्लीज कमेंट करें. अगर आपने अब तक हमारा पेज लाइक नहीं किया हैं, तो कृपया अभी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट हम आपकों जल्दी पहुंचा सकें.