CWC 2019, AFGvsSL: अफगान कप्तान गुलबदीन नैब ने सीधे तौर पर इन्हें माना हार का जिम्मेदार

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

CWC 2019, AFGvsSL: अफगान कप्तान गुलबदीन नैब ने सीधे तौर पर इन्हें माना हार का जिम्मेदार 

CWC 2019, AFGvsSL: अफगान कप्तान गुलबदीन नैब ने सीधे तौर पर इन्हें माना हार का जिम्मेदार

विश्व कप 2019 के 7वें मुकाबले में अफगानिस्तान के सामने श्रीलंका की टीम थी। अफगानिस्तान के कप्तान गुलब्दीन नैब ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। इस मैच को डाकवर्थ लुईस नियम से श्रीलंका ने 34 रनों से अपने नाम किया। यह इस टूर्नामेंट में श्रीलंका की पहली जीत है वहीं अफगानिस्तान को लगातार दूसरे मैच में हार मिली है।

हार के बाद नैब ने दिया बयान

CWC 2019, AFGvsSL: अफगान कप्तान गुलबदीन नैब ने सीधे तौर पर इन्हें माना हार का जिम्मेदार 1

मैच में हार के बाद अफगानिस्तान के कप्तान गुलबदीन नैब ने शुरुआतो ओवरों में रन खर्च करने को बड़ी वजह माना। इसके साथ ही श्रीलंका को 201 रनों पर रोकने के लिए गेंदबाजों की तारीफ भी की। मोहम्मद नबी ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए थे। नैब ने मैच के बाद कहा

“दिन की शुरुआत, हमने अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाजी नहीं की और वहां से गति खो दी। वे कुछ ही समय में 100 पर पहुंच गए। एक समय पर मुझे लगा कि वे 300 पर पहुंच जाएंगे लेकिन नबी ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। बल्लेबाजों के लिए विकेट आसान नहीं था, इसलिए मैं गेंदबाजों को सही स्पॉट पर हिट करने के लिए कह रहा था। बीच के ओवरों में दौलत और हामिद ने अपनी लाइनें देखीं। श्रेय उन्हें और अन्य गेंदबाजों को जाता है।”

बल्लेबाजी से निराश

CWC 2019, AFGvsSL: अफगान कप्तान गुलबदीन नैब ने सीधे तौर पर इन्हें माना हार का जिम्मेदार 2

अफगानिस्तान के बल्लेबाजी ने अच्छी शुरुआत की लेकिन उसके बाद उनके लगातार विकेट गिरते रहे और टीम 187 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई। टीम का कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक भी नहीं बना पाया। बल्लेबाजी के बारे में कप्तान गुलब्दीन नैब ने कहा

“लक्ष्य इतना कठिन नहीं था, विशेष रूप से यह देखते हुए कि कैसे हम हाल ही में एक पीछा करने वाले टीम के रूप में तैयारी कर रहे हैं। हमें बल्लेबाजी विभाग में सुधार की जरूरत है, विशेष रूप से इस तरह की क्वालिटी गेंदबाजी के खिलाफ, छोटी साझेदारियों बनाना सीखने की जरूरत है। दिन की शुरुआत में बादल था और मुझे उम्मीद थी कि यह पूरे समय एक ही रहेगा। हम बेहतर बल्लेबाजी कर सकते थे, सीधा खेल सकते थे और गेंद को बेहतर तरीके से देखते थे।”

Related posts