हनुमा विहारी ने टीम संयोजन को लेकर कही ये बड़ी बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

हनुमा विहारी ने बताया पहला टेस्ट शतक लगाने के बाद क्यों विराट कोहली ने किया था उन्हें टीम से बाहर 

हनुमा विहारी ने बताया पहला टेस्ट शतक लगाने के बाद क्यों विराट कोहली ने किया था उन्हें टीम से बाहर

भारतीय क्रिकेट टीम में पिछले कुछ साल में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को मौका मिला। भारत में मौजूदा दौर में तो युवा खिलाड़ियों के बीच ऐसी प्रतिस्पर्धा चल रही है जिसके बीच स्थान बनाने को लेकर भी काफी बड़ी चुनौती माना जा सकता है। ऐसी स्थिति में किसी भी खिलाड़ी के लिए अपनी जगह को टीम में सुरक्षित रखना इतना आसान नहीं है।

हनुमा विहारी ने भारतीय टेस्ट टीम में बनायी खास जगह

इसी बीच पिछले कुछ सालों में जिन युवा खिलाड़ियों ने भारतीय टीम में दस्तक दी है उनमें से एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी का नाम हनुमा विहारी है। आन्ध्रप्रदेश के युवा प्रतिभाशाली बल्लेबाज हनुमा विहारी ने अपने प्रदर्शन से अब तक काफी प्रभावित किया है।

हनुमा विहारी

हनुमा विहारी को पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ 2018 में टेस्ट टीम में मौका मिला। उसके बाद से विहारी लगातार भारतीय टेस्ट स्क्वॉड का हिस्सा हैं। इस दौरान कभी उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर किया गया तो कभी उन्हें प्लेइंग इलेवन में दोहरी जिम्मेदारी के साथ मौका मिला।

विहारी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद खो दी थी अगले मैच में जगह

हनुमा विहारी को भारत की टेस्ट टीम में लगातार मौका दिया जा रहा है जिसमें उन्होंने कुछ अच्छी पारियों से अपने स्थान को कायम रखा। इसके बाद पिछले साल विश्व कप के बाद वेस्टइंडीज के दौरे पर उन्होंने टेस्ट सीरीज में शानदारक सैकड़ा जड़ा था।

हनुमा विहारी

वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले टेस्ट शतक के बाद विहारी को भारत की टेस्ट टीम का खास अंग माना जाने लगा लेकिन अगली टेस्ट सीरीज में भारत लौटने पर विहारी को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया। जो हैरान करने वाला था लेकिन विहारी ने टीम हिट में इस फैसले को बताया।

पहले टेस्ट शतक के बाद अगले टेस्ट से बाहर करने को लेकर विहारी ने दी प्रतिक्रिया

हनुमा विहारी से जब इंटरव्यू के दौरान पूछा गया कि आपके पहले टेस्ट शतक के बाद आपको प्लेइंग इलेवन से बाहर किया गया था, टीम मैनेजमेंट का क्या मैसेज था?

हनुमा विहारी ने बताया पहला टेस्ट शतक लगाने के बाद क्यों विराट कोहली ने किया था उन्हें टीम से बाहर 1

इस पर हनुमा विहारी ने कहा कि

मैंने वाइजेग में एक मैच खेला था और उसके बाद मुझे लेफ्ट कर दिया गया था, लेकिन मुझे टीम का संयोजन समझ आ गया। मैं नंबर 6 पर खेलता हूं और जब टीम को एक अतिरिक्त गेंदबाज को खिलाना होता है तो आमतौर पर नंबर 6 के बल्लेबाज को छोड़ दिया जाता है। और मैं इससे खुश हूं। मैं इससे निराश नहीं हूं क्योंकि जो टीम चाहती है, वो टीम संयोजन है और आप टीम के लिए खेलते हैं।”

Related posts