आईपीएल 2020-  सूर्यकुमार यादव को लगातार नजरअंदाज करने पर भड़के हरभजन सिंह, बीसीसीआई को कही ये बात 1

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का अंतिम दौर चल रहा है। संयुक्त अरब अमीरात में खेले जा रहे इस आईपीएल सीजन के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जा रही है। ऑस्ट्रेलिया के दौरे को लेकर हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम का चयन कर लिया गया है, जहां तीनों ही फॉर्मेट की टीम को चुन लिया गया है।

एक बार फिर से किया गया है सूर्यकुमार यादव को नजरअंदाज

ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर चुनी गई भारतीय क्रिकेट टीम में कुछ खिलाड़ियों को मौका दिया गया है, जिसमें संजू सैमसन और वरुण चक्रवर्ती जैसे खिलाड़ियों पर भरोसा दिखाया गया है।

आईपीएल 2020-  सूर्यकुमार यादव को लगातार नजरअंदाज करने पर भड़के हरभजन सिंह, बीसीसीआई को कही ये बात 2

लेकिन वहीं आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने के बाद भी कुछ खिलाड़ियों को नजरअंदाज किया गया है। जिन खिलाड़ियों पर चयनकर्ताओं का ध्यान नहीं जा रहा है उसमें प्रमुख नाम मुंबई के प्रतिभाशाली बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव भी हैं।

सूर्यकुमार यादव इस सीजन में भी कर रहे हैं शानदार प्रदर्शन

आईपीएल के पिछले कई सीजन से सूर्यकुमार यादव का बहुत ही प्रभावशाली प्रदर्शन रहा है, तो साथ ही सूर्यकुमार यादव घरेलू क्रिकेट में भी कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। इस सीजन की बात करें तो यहां भी सूर्या का बल्ला बोल रहा है।

आईपीएल 2020-  सूर्यकुमार यादव को लगातार नजरअंदाज करने पर भड़के हरभजन सिंह, बीसीसीआई को कही ये बात 3

आईपीएल 2020-  सूर्यकुमार यादव को लगातार नजरअंदाज करने पर भड़के हरभजन सिंह, बीसीसीआई को कही ये बात 4

मुंबई इंडियंस के लिए खेल रहे सूर्यकुमार यादव ने इस सीजन में अब तक शानदार बल्लेबाजी की है। उन्होंने इस सीजन खेले गए 12 मैचों की 11 पारियों में अब तक 362 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने मैच विनिंग नॉक भी खेली हैं।

हरभजन सिंह सूर्यकुमार को मौका ना देने पर भड़के

भारतीय क्रिकेट टीम में सूर्यकुमार यादव को लगातार शानदार प्रदर्शन के बाद भी जगह ना मिलने से हरभजन सिंह काफी नाराज हैं और उन्होंने इसको जोरदार गुस्सा निकाला।

हरभजन सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि “सूर्यकुमार यादव ऐसा क्या करें कि उन्हें टीम में चुन लिया जाए। वो आइपीएल के हर सीजन में और रणजी सीजन में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। टीम में चयन के लिए अलग लोगों के लिए अलग नियम हैं। मैं बीसीसीआई से अनुरोध करूंगा कि वो एक बार उनका रिकॉर्ड चेक करें।”