हरभजन सिंह ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से की ये मांग

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले से नाराज हुए हरभजन सिंह ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से की ये गुजारिश 

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले से नाराज हुए हरभजन सिंह ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से की ये गुजारिश
Harbhajan Singh during the ICC Cricket World Cup group stage match at Hampshire Bowl, Southampton. (Photo by Adam Davy/PA Images via Getty Images)

सोशल मीडिया पर हमेशा एक्टिव रहने वाले टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने अपने ट्विटर हैंडिल पर लगातार 2 वीडियो पोस्ट की. इसमें उन्होंने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले को लेकर अपनी नाराजगी जताई है और साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से इस मुद्दे पर कड़ी कार्रवाई करने की गुजारिश की है.

हरभजन सिंह ने की ननकाना हमले की आलोचना

शुक्रवार को पाकिस्तान के पंजाब में स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारे हमले पर नाराजगी जताने के लिए हरभजन सिंह ने ट्विटर का सहारा लिया. उन्होंने लगातार 2 ट्वीट शेयर किए. पहले ट्वीट में एक वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा- ‘पता नहीं कुछ लोगों के साथ क्या समस्या है, कि वे शांति से नहीं रह सकते…. मोहम्मद हसन खुलेआम ननकाना साहिब गुरुद्वारे को ढहाने और वहां मस्जिद बनाने की धमकी दे रहा है… इमरान खान इसे देखकर बेहद दुख हुआ।’

इमरान से की सख्त फैसला लेने की गुजारिश

अपने दूसरे ट्वीट में हरभजन ने भीड़ का नेतृत्व कर रहे उसी मोहम्मद हसन का एक और वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा- ईश्वर एक है… उसे बांटो मत करो और ना ही एक-दूसरे के प्रति नफरत पैदा करो… सबसे पहले इंसान बनो और एक-दूसरे का सम्मान करो… मोहम्मद हसन खुलेआम ननकाना साहिब गुरुद्वारे को नष्ट करने और उस जगह पर मस्जिद बनाने की धमकी दे रहा है इमरान खान कृपया जरूरी कदम उठाएं.

क्या है पूरा मामला?

हरभजन सिंह

पाकिस्तान के पंजाब में स्थित सिक्खों के पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे में शुक्रवार शाम कट्टर मुसलमानों के बड़े झुंड ने घुसकर दंगा करते हुए पत्थरबाजी की. इतना ही नहीं मुसलमानों ने सिखों को भगाने, गुरुद्वारा ढहाने और शहर का नाम बदलकर गुलाम अली मुस्तफा रखने की धमकी दी. हालांकि अब ये मामला मीडिया के सामने आ चुका है लेकिन अभी तक पाकिस्तान की तरफ से इस मामले पर कोई कार्रवाई होती नजर नहीं आई है.

Related posts