हरभजन सिंह बोले भारतीय गेंदबाजों की असफलता के पीछे का कारण है अभ्यास का अभाव

भारत के पूर्व ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर भारतीय गेंदबाजों की असफलता का मुख्य कारण है अभ्यास में कमी। ऐसा नहीं है कि भारतीय टीम केवल टेस्ट सीरीज में चार मैच हरने कि वजह से बहार हो गई, जबकि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल ट्राई सीरीज में एक मैच तक जीतने में असफल रही।

भातीय प्रसंसको को लगता है कि अगर टीम इंडिया के पास एक भी असरदार स्पिनर होता तो शायद परिणाम कुछ और होता। हरभजन ने भारतीय गेंदबाजों कि असफलता पर रौशनी डालते हुए कहा, ‘’ अभ्यास में कमी के कारण भारतीय गेंदबाज़ नामुनासिब रहे है, कोई भी गेंदबाज़ छह कि छह गेंद सही पोजीशन पर न डाल पाया, यहाँ तक कि महान गेंदबाज़ ग्लेन मैकग्रा भी नहीं। इनसे एक ओसत पर सही पोजीशन में बालिंग ना हो पाई। मुझे लगता है कि यह लोग अभ्यास सत्र में प्रयास पर जोर नाहे देते, और इसी वजह से वे असफ रहे है ।’’  

34 वर्षीय गेंदबाज़ हरभजन सिंह ने भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में 259 और वनडे क्रिकेट में 413 विकेट झटके है।

इतना ज्यादा अनुभव और आकर्षक विकेट अपने नाम पर दर्ज करने के बावजूद हरभजन सिंह को भारतीय विश्वकप टीम के लिए चुने गए 30 खिलाड़ियों कि सूची भी जगह नहीं दी गई है।

दो साल पहले जून 2011 में भारत कि ओर से वनडे मैच में खेलते हुए हरभजन सिंह नजर आये थे। हम आशा करते है की इनके द्वारा दी गई सलाह और सुझाव भारतीय टीम के गेंदबाजो के लिए लाभकारी सिद्ध होगा।

Related Topics