हरभजन सिंह ने कहा इंग्लिश समझ नहीं आती थी, फिर इस खिलाड़ी ने की मदद 1

भारतीय टीम के ऑफ़ ब्रेक स्पिनर हरभजन सिंह ने 17 अप्रैल 1998 को अपना वनडे डेब्यू न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था. इस समय उनकी उम्र मात्र 18 साल थी. उन्होंने अपने वनडे डेब्यू में शानदार गेंदबाजी करते हुए अपने कोटे के 10 ओवर में मात्र 32 रन खर्च किये थे और 1 विकेट हासिल किया था. इस मैच को भारत ने 15 रनों के अंतर से जीत लिया था.

डेब्यू सीरीज का किस्सा किया शेयर

हरभजन सिंह ने कहा इंग्लिश समझ नहीं आती थी, फिर इस खिलाड़ी ने की मदद 2

हरभजन सिंह ने अपने डेब्यू सीरीज का ही एक किस्सा शेयर किया है. उन्होंने बताया है, कि वह अपने डेब्यू से पहले टीम मीटिंग में इंग्लिश भाषा को समझ नहीं पाते थे, इसलिए दूसरे खिलाड़ियों के सवालों का उत्तर भी नहीं दे पाते थे.

उन्होंने कहा है, कि बाद में फिर उन्होंने सभी को यह बात बता दी, कि वह इंग्लिश नहीं बोल पाते हैं और ना ही समझ पाते हैं, इसलिए वह सिर्फ पंजाबी भाषा में ही बात कर पायेंगे.

अंग्रेजी भाषा बिल्कुल नहीं समझ पा रहा था

हरभजन सिंह ने कहा इंग्लिश समझ नहीं आती थी, फिर इस खिलाड़ी ने की मदद 3

हरभजन सिंह ने कहा इंग्लिश समझ नहीं आती थी, फिर इस खिलाड़ी ने की मदद 4

हरभजन सिंह ने अपने डेब्यू सीरीज का किस्सा बताते हुए अपने एक बयान में कहा,

“मेरे पहले टेस्ट से पहले, टीम की बैठक के दौरान खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम में अंग्रेजी में बोल रहे थे, लेकिन मैं इस भाषा को बिल्कुल समझ नहीं पा रहा था और मुझे भी कुछ बोलने के लिए कहा गया था, लेकिन मैंने उनसे कहा कि मैं अंग्रेजी में नहीं बोल सकता.

तब ऐसे में कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन मेरे पास आये और उन्होंने मुझसे पूछा, कि समस्या क्या है? मैंने कहा कि मैं ये भाषा नहीं बोल सकता. उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं किस भाषा में सहज हूं, तो मैंने पंजाबी कहा, इसके बाद उन्होंने मुझे टीम की बैठक के दौरान पंजाबी में बात करने के लिए ही कहा.”

शानदार रहा है हरभजन सिंह का क्रिकेट करियर

हरभजन सिंह ने कहा इंग्लिश समझ नहीं आती थी, फिर इस खिलाड़ी ने की मदद 5

हरभजन सिंह का क्रिकेट करियर शानदार रहा है. उन्होंने अबतक भारतीय टीम के लिए 103 टेस्ट मैच, 236 वनडे मैच और 28 टी-20 मैच खेल चुके हैं.

उन्होंने अभी तक अपने टेस्ट करियर में 417 विकेट, वनडे क्रिकेट करियर में 269 विकेट व टी-20 क्रिकेट करियर में 25 विकेट हासिल किये हुए है. वह साल 2016 से भारत की टीम से बाहर चल रहे हैं.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul