hardik pandya

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच कैनबरा के मानुका ओवल में हुए सीरीज़ के तीसरे और आखिरी वन-डे में ऑस्ट्रेलिया को 13 रन से हरा कर भारतीय टीम ने सीरीज़ का एक सम्मानजनक अंत किया है. पहली पारी में 5 विकेट पर 302 रन बनाने के बाद भारतीय गेंदबाज़ों ने ऑस्ट्रेलिया को 289 रन पर ऑल-आउट कर मैच भारत की झोली में डाल दिया. ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को उनकी 76 गेंद में 92 रन की शानदार पारी के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ एक्सट्रा-एफ़र्ट ज़रूरी – हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या

रविंद्र जडेजा के साथ 160 रन की साझेदारी और 92 रन की शानदार पारी खेलने वाले युवा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई. मैन ऑफ़ द मैच चुने जाने के बाद पोस्ट-मैच प्रेजेंटेशन में अपनी बात रखते हुए पांड्या ने कहा कि,

“मुझे लगता है मैं अब टी20 सीरीज़ के लिए अच्छी तरह से तैयार हूं. मैंने अपने देश के लिए खेलने को पूरी मेहनत की है. मुझे इस बात की खुशी भी है कि मुझे मौका मिला. इसके अलावा मैं युवा साथी टी नटराजन के लिए भी बहुत खुश हूं. ये उनके लिए एक अच्छा मौका था, जिस पर उन्होंने क्लिक भी किया.

बात जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ खेलने की हो तो आपको अपने अंगूठों पर रह कर अपना सर्वश्रेष्ट देना बेहद ज़रूरी होता है. आम और औसत दर्जे से ऊपर उठ कर आपको चुनौतियों का सामना करना होता है.”

जडेजा के साथ हार्दिक की मैच-विनिंग पार्टनरशिप

AUSvsIND: मैन ऑफ़ द मैच हार्दिक पंड्या ने बताया बल्लेबाजी के दौरान क्या थी उनकी रणनीति 1

एक वक़्त पर भारतीय टीम 152 रन के स्कोर पर 5 विकेट खो कर मैच में संघर्ष करती हुई नज़र आ रही थी. उसी समय मैदान पर उतरे रविंद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या. दोनों ऑलराउंडर्स ने ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए मैदान के चारों तरफ़ शॉट्स खेले.

कोहली और केएल राहुल के जल्दी आउट होने के बाद पांड्या और जडेजा ने न केवल पारी को संभाला बल्कि 160 रन की शानदार साझेदारी करते हुए टीम का स्कोर 300 के पार पहुंचाया. इन दोनों की इस साझेदारी को मैच का टर्निंग पॉइंट कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा.

आगे क्या है भारतीय टीम की तैयारी?

AUSvsIND: मैन ऑफ़ द मैच हार्दिक पंड्या ने बताया बल्लेबाजी के दौरान क्या थी उनकी रणनीति 2

तीसरे और आखिरी मैच में भारतीय टीम मैच तो जीत गई. लेकिन इस जीत के बाद कप्तान कोहली और टीम मैनेजमेंट की चयन प्रक्रिया को लेकर भी कई सवाल उठने लगे हैं. बात दरअसल ये है कि जिस तरह का प्रदर्शन तेज़ गेंदबाज़ शार्दुल ठाकुर ने तीसरे मैच में किया उसी के दम पर वो शुरुआती मैचों में भी फ़र्क़ ज़रूर डालते. इसके बाद ये चर्चा का विषय है कि टी20 सीरीज़ भारतीय टीम किस रणनीति और किस लाइन-अप के साथ उतरती है.