ऑस्ट्रेलियन पत्रकार ने CAA के मुद्दे पर किया भारत विरोधी कमेन्ट, हर्षा भोगले ने दिया करारा जवाब 1

जहां एक तरफ पूरे देश में नागरिकता सशोधन विधेयक के खिलाफ देश के कोने कोने में विरोध प्रदर्शन हो रहा है. देश के तमाम युवा इसके विरोध में एकत्रित होकर जुलूस निकल रहें हैं. ऐसे में देश का सामंजस्य बिगड़ता देख क्रिकेट जगत के जानकार भी इस कानून में अपनी अपनी राय रख चुके हैं.

इसी क्रम में मशहूर क्रिकेट एनालिस्ट और कमेंटेटर हर्षा भोगले ने सोशल मीडिया पर नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूरे देश में हो रहे प्रोटेस्ट पर अपनी राय रखी. आप हर्षा भोगले के फेसबुक पेज पर जाकर उनकी राय जान सकते हैं.

हर्षा भोगले की उस पोस्ट में एक ऑस्ट्रेलियन पत्रकार ने किया कमेन्ट

ऑस्ट्रेलियन पत्रकार ने CAA के मुद्दे पर किया भारत विरोधी कमेन्ट, हर्षा भोगले ने दिया करारा जवाब 2

इसको लेकर ट्विटर पर उन्हें कुछ लोगों ने ट्रोल किया तो कुछ लोगों ने उनके विचार को काफी सराहा. इस बीच एक ऑस्ट्रेलियाई जर्नलिस्ट डेनिस फ्रीडमैन ने हर्षा की तारीफ करते हुए भारत भारत विरोधी कमेंट्स किए, जो हर्षा भोगले को बिल्कुल भी पसंद नहीं आए और उन्होंने इसका करारा जवाब भी दिया. आपको बता दें कि डेनिस का पाकिस्तान क्रिकेट से भी खास कनेक्शन है और सोशल मीडिया पर ज्यादातर पोस्ट पाकिस्तान क्रिकेट के सपोर्ट में ही करते हैं.

हर्षा ने फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर की, जिसमें उन्होंने लिखा

ऑस्ट्रेलियन पत्रकार ने CAA के मुद्दे पर किया भारत विरोधी कमेन्ट, हर्षा भोगले ने दिया करारा जवाब 3

ऑस्ट्रेलियन पत्रकार ने CAA के मुद्दे पर किया भारत विरोधी कमेन्ट, हर्षा भोगले ने दिया करारा जवाब 4

‘मुझे लगता है कि यंग भारत अब हमसे बात कर रहा है, वो हमें बताना चाह रहा है कि वो क्या बनना चाहता है और क्या नहीं बनना चाहता है.’ हर्षा भोगले की इस फेसबुक पोस्ट पर ट्विटर पर काफी कमेंट्स आए हैं.

हर्षा भोगले की इसी पोस्ट पर डेनिस ने ट्वीट किया

https://twitter.com/DennisCricket_/status/1209610682158600193?s=20

‘मैं इस पोस्ट के लिए हर्षा के लिए ताली ही बजा सकता हूं. उनका भारत टूटा हुआ है. किसी और देश के नेता या सत्ता में सरकार की लगातार नाजियों से तुलना नहीं हो रही है. इस मामले पर हम सबको हर्षा बनना चाहिए. सिर्फ गौतम गंभीर को छोड़कर. उन्होंने इस पार्टी का हिस्सा बनने का फैसला लिया.’

इस पर हर्षा भोगले ने ट्विटर पर ही डेनिस को करारा जवाब देते हुए लिखा-

 नहीं डेनिस, मेरा भारत टूटा हुआ नहीं है. ये जोश से भरे युवाओं का देश है, जो बहुत शानदार चीजें कर रहे हैं. हम पूरी तरह से फंक्शनल और मैच्योर डेमोक्रेसी हैं. हम भले ही कुछ मुद्दों पर अलग हों और अपने विचार रखते हों लेकिन हम सभी भारतीय हैं. जो शब्द आपने तुलना के लिए इस्तेमाल किया, वो कभी नहीं.’ हालांकि डेनिस इस पर शांत नहीं हुए और उनके अगले ट्वीट का फिलहाल हर्षा ने कोई जवाब भी नहीं दिया है.

Ashutosh Tripathi

Sport Journalist