हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने नीदरलैंड्स और एशिया कप के लिए स्कॉड का ऐलान किया है। इस स्कॉड में पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली (Hasan Ali) को शामिल नहीं किया गया है, जिसके बाद कई क्रिकेट दिग्गजों ने उन्हें बाहर करने पर पीसीबी (PCB) से सवाल किये हैं। बता दें कि हसन अली की जगह टीम में युवा तेज गेंदबाज नसीम शाह ने ली है। एशिया कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से हसन अली (Hasan Ali) जैसे गेंदबाज को ड्रॉप करना पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद हफीज को रास नहीं आया और इस बात पर उन्होंने अपनी राय रखी है।

हसन अली हुए एशिया कप से ड्रॉप

Hasan Ali

पाकिस्तान क्रिकेट टीम को एशिया कप से पहले नीदरलैंड्स का दौरा करना है और फिर इसी महीने की आखिर में एशिया कप भी खेला जाना है, जिसके लिए टीम का स्कॉड तो तैयार कर दिया गया लेकिन इस स्कॉड से पाकिस्तान टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज हसन अली (Hasan Ali) को ड्रॉप कर दिया गया है। उन्हें एशिया कप जैसे अहम टूर्नामेंट से बाहर करने पर पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने अपनी राय रखते हुए बयान दिया है जिसपर चलिए आगे जानते हैं।

मोहम्मद हफीज ने रखी राय

Mohammad Hafiz

एशिया कप के लिए हसन अली (Hasan Ali) जैसे गेंदबाज को ड्रॉप करने पर मोहम्मद हफीज उनपर बातचीत करते हुए गेंदबाज का बचाव करत हुए दिखे। उन्होंने उनके बचाव में पीसीबी को अपने निशाने पर लेते हुए कहा-

“हसन अली (Hasan Ali) एक शानदार क्रिकेटर है। मैं उन्हें उनके शुरूआती दिनों से जानता हूं। वो एक फाइटर है, करियर के ऐसे मोड़ पर जब आप अच्छी फॉर्म में नहीं होते हैं तो आप मानसिक रूप से थक जाते हैं। इसके बावजूद आप प्रदर्शन करना चाहते हैं। मुझे लगता है कि मैनेजमेंट ने हसन के साथ ठीक नहीं किया हसन को उन मैचों में खेलना पड़ा जब उन्हें आराम दिया जा सकता था।” 

अपने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा-

“सेलेक्शन कमेटी और टीम मैनेजमेंट ने उन्हें हर गेम में शामिल करने का फैसला किया है। लेकिन मानसिक तौर पर वह प्रेशर के लिए तैयार नहीं था। उसे वो गैप (आराम) नहीं मिला जो उसे चाहिए था। मुझे लगता है कि अनावश्यक रूप से दिलाया जा रहा था। तो यह टीम मैनेजमेंट की एक गलती थी और काफी हद तक हसन की भी क्योंकि जब आप यंग होते हो तब आपको गेम के मानसिक पहलू की महत्ता नहीं पता होती है।” 

हसन अली को ड्रॉप करना पॉजिटिव रूप में लेना चाहिए

Hasan Ali

हसन अली (Hasan Ali) को ड्रॉप किये जाने पर पूर्व क्रिकेटर ने इसे एक पॉजिटिव रूप में लेने की बात कही है। उन्होंने ये भी कहा है कि फिलहाल उन्हें कुछ समय अपनी फैमिली के साथ बिताना चाहिए। हफीज को उम्मीद है कि इन 3-4 हफ्तो की ब्रेक हसन अली (Hasan Ali) को संभलने में मदद करेगा और वो फिर से एक बार अपनी घातक गेंदबाजी के साथ मैदान में वापसी करेंगे। हफीस ने पीसीबी पर निशाना साधते हुए ये भी कहा कि उन्हें यह फैसला काफी पहले लेना चाहिए था।