विश्लेष्ण: विराट कोहली के अंडर 19 कैप्टन से भारतीय टेस्ट टीम कैप्टन बनने तक का सफर

SAGAR MHATRE / 27 December 2015

अंडर 19 भारतीय टीम का कप्तान, नंबर तीन पर भारत के बडे बल्लेबाज, वनडे टीम के उप-कप्तान, और टेस्ट के कप्तान ऐसा सफर रहा है विराट कोहली का.

टेस्ट में कप्तानी से पहले पिछले साल उन्होंने वनडे टीम में कप्तानी की थी, जिसमे उनको जीत मिली थी.

पिछले साल जब धोनी अनफिट थे तब अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ कोहली ने कप्तानी की. उस मैच में कोहली ने दोनों पारियों में शतक लगाया था. कोहली ने दुसरी पारी में 141 रन बनाए थे, लेकिन भारत वो टेस्ट मैच हार गया था. उसके बाद कोहली ने कहा था कि, हम सिर्फ जीत के लिए खेले थे, और हमेशा जीत के लिए ही खेलेंगे.

बाद में धोनी ने टेस्ट से संन्यास लिया और कोहली को टेस्ट कप्तानी मिली. कोहली ने आक्रमक रहते हुए टेस्ट की कप्तानी की, और एक नयी टीम बनाया .

 

सबसे पहले श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने भारत को 21 साल बाद उनकी धरती पर टेस्ट सीरीज में जीत दिलाई. ये कोहली की कप्तानी की शानदार शुरूआत थी.

फिर उसके बाद दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में कोहली के कप्तानी में भारतीय टीम ने अफ्रिकाई टीम को 3-0 से रोंद डाला था. कोहली की आक्रमक कप्तानी ने इस सीरीज में भारत ने नंबर 1 टीम को हराया.

अॉस्ट्रेलिया दौरे पर पिछले साल कोहली ने 4 टेस्ट मैचों में 692 रन बनाए थे, लेकिन उसके बाद उनका बल्ला थोडा शांत ही रहा है.

लेकिन उनकी कप्तानी का प्रदर्शन शानदार रहा है, और वे एक आक्रमक कप्तान बनकर उभरे है.

Related Topics