शुरुआती तीन गेंदों में हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास, आखिरी मैच हुआ रद्द, अब लगा 6 साल का बैन 1

क्रिकेट जिसे अनिश्तिताओं का खेल कहा जाता है. क्रिकेट में एक गेंद में ही मैच में हार जीत हो जाती है. क्रिकेट के सबसे लंबे फार्मेट टेस्ट क्रिकेट में अभी तक 45 बार हैट्रिक ली जा चुकी है.

इस फार्मेट में 45 बार ऐसे मौके आए जब लगातार तीन गेंदों पर किसी गेंदबाज ने विपक्षी टीम के तीन बल्लेबाजों को आउट कर पवेलियन की राह दिखा दी हो. मगर इन सबके बीच केवल एक ही गेंदबाज ऐसा रहा है जिसने अनूठा कारनामा हासिल किया है. उनके बाद इस कारनामे को कोई और गेंदबाज नहीं कर सका है.

नुवान जोएशा के नाम है ये अनूठी हैट्रिकः

शुरुआती तीन गेंदों में हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास, आखिरी मैच हुआ रद्द, अब लगा 6 साल का बैन 2

ऐसा खिलाड़ी है श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के आलराउंडर खिलाड़ी नुवान जोएसा है. जोएसा श्रीलंका क्रिकेट टीम के लिए 30 टेस्ट और 95 एकदिवसीय मैच खेल चुके हैं.  13 मई 1978 को कोलंबो में पैदा हुए नुवान जोएसा ने ये कारनामा जिम्बांबे के खिलाफ मैच में किया. मैच की शुरुआती तीन गेदों पर ही तीन विकेट हासिल क्रिकेटत में इतिहास बना दिया.

उन्होंने ये कारनामा 1999 में हरारे में जिम्बांबे के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में अंजाम दिया था. इस दौरान उन्होंने टेस्ट मैच की शुरुआती तीन गेंदों पर ही जिम्बांबे के तीन बल्लेबाजों को आउट कर पवेलियन की राह दिखा दी थी.

नुवान जोएसा का आखिरी मैच कुछ यूं रहाः

शुरुआती तीन गेंदों में हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास, आखिरी मैच हुआ रद्द, अब लगा 6 साल का बैन 3

नुवान जोएसा ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का आखिरी मैच भारत के खिलाफ खेला. 8 फरवरी 2007 को कोलकाता में खेले गए इस मैच में मेहमान टीम की पहले बल्लेबाजी आई.

टीम की ओर से 18.2 ओवर में श्रीलंका ने तीन विकेट खोकर 102 रन बना लिए थे तभी मैच को बारिश के चलते रद्द करना पड़ा. इस तरह जोएसा को टीम इंडिया के खिलाफ ना तो जीत की खुशी मिली और ना ही हार का गम.

6 साल का लगा दिया गया बैनः

शुरुआती तीन गेंदों में हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास, आखिरी मैच हुआ रद्द, अब लगा 6 साल का बैन 4

जोएसा की मौजूदा स्थिति के बारे में बात की जाए तो उनको आईसीसी के एंटी करप्शन कोड के नियमों के उल्लंघन का दोषी माना गया है जिसके चलते उनके ऊपर 6 साल का बैन लगाया गया है.

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज नुवान जोएसा ने श्रीलंका के लिए 30 टेस्ट खेले इसमें उन्होंने 64 विकेट हासिल किए. इनमें पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रर्दशन 20 रन देकर 5 विकेट का रहा, जबकि एक मैच की बात की जाए तो उनका सर्वेश्रेष्ठ प्रर्दशन 73 रन देकर आठ विकेट रहा. इसके अलावा उन्होने टेस्ट क्रिकेट में 288 रन बनाए हैं.