रोहित शर्मा ने कहा मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में एक समय

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

रोहित शर्मा ने कहा मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में एक समय सोचना बंद कर दिया था 

रोहित शर्मा ने कहा मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में एक समय सोचना बंद कर दिया था

हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने लिए 2019 का वर्ष बहुत अच्छा गया. इसी साल उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में वापसी की और टीम में अपनी जगह पक्की कर ली. जिसके बाद अब रोहित शर्मा टेस्ट फ़ॉर्मेट में भी जगह पक्की कर चुके हैं. अब एक चौकाने वाला बयान देते हुए हिटमैन ने कहा की उन्होंने एक समय टेस्ट फ़ॉर्मेट के बारें में सोचना बंद कर दिया था.

रोहित शर्मा ने कहा टेस्ट क्रिकेट के बारें में नहीं सोच रहा था

रोहित शर्मा ने कहा मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में एक समय सोचना बंद कर दिया था 1

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट फ़ॉर्मेट में वापसी की और खुद को साबित करते हुए उस सीरीज में 500 से भी ज्यादा रन बनाये. अब पीटीआई को इन्टरव्यू देते हुए उन्होंने कहा कि

” सच कहूँ तो एक समय ऐसा आ गया था. जब मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में सोचना ही बंद कर दिया था. इससे पहले मैं टेस्ट क्रिकेट में सफलता के बारें में बहुत ज्यादा सोच रहा था. सोचता था की रुक कर सोचूंगा की ये शॉट क्यों खेल रहा हूँ. मैं वह शॉट क्यों खेल रहा हूं. प्रत्येक टेस्ट पारी के बाद, मैं हमारे वीडियो विश्लेषक के पास जाऊंगा, बैठूंगा, देखूंगा और फिर अपने दिमाग को भ्रमित करूंगा.”

ऑस्ट्रेलिया दौरे से बदली रोहित शर्मा ने अपनी सोच

रोहित शर्मा ने कहा मैंने टेस्ट क्रिकेट के बारें में एक समय सोचना बंद कर दिया था 2

पिछले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे के बारें में बोलते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि

” यह वास्तव में सही काम नहीं था जो मैं कर रहा था. तकनीक के बारे में बहुत अधिक सोचना मुझे खेल का आनंद लेने की अनुमति नहीं दे रहा था. मेरे दिमाग में वह सब था, ओह, मुझे टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है. इसलिए, 2018-19 ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले, मैंने अपने आप को कहा बॉस अब चाहे जो भी हो जाये मैं अपने तकनीक के बारें में नहीं सोचूंगा.”

दक्षिण अफ्रीका सीरीज में अपने प्रदर्शन पर बोले हिटमैन

रोहित शर्मा

अपनी वापसी सीरीज के बारें में बोलते हुए भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा कि

” अगर आप दक्षिण अफ्रीका सीरीज में लोगों के नजरिए से खेलने की बात करते हैं, तो यह मेरा आखिरी मौका था लेकिन मैं एक खिलाड़ी हूं और मैं ऐसा नहीं सोच सकता. अगर मुझे लगता है कि यह मेरा आखिरी मौका था तो मैंने उस मानसिकता के साथ रन नहीं बनाए हैं. जब आप इस तरह के हाई प्रोफाइल खेल खेल रहे होते हैं, तो आप नकारात्मक विचारों को कम नहीं कर सकते.”

Related posts