भारत और बांग्लादेश टेस्ट मैच पर खड़ा हुआ बड़ा सवाल 1

भारत का अगला शेड्यूल इंग्लैंड के साथ 15 जनवरी से शुरू हो रहा है, जिसमे वह तीन वनडे और तीन टी -20 मैच खेलेगा. इसके बाद भारतीय टीम को बांग्लादेश के साथ एक टेस्ट मैच खेलना था, जो 8 से 12 फ़रवरी के बीच हैदराबाद में खेला जाना था और इस टेस्ट की मेजबानी हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन को दी गयी थी, लेकिन उसने मेजबानी करने से इंकार कर दिया है और बीसीसीआई की मुसीबतें बढ़ा दी है.

हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन ने फण्ड की कमी के कारण यह फैसला लिया है और इसकी मेजबानी ना करने का कारण अपने पास पर्याप्त फण्ड ना होना बताया है.

यह भी पढ़े : कोलकाता के खिलाफ मैच से पहले हैदराबाद के लिए बुरी खबर

पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और पूर्व सचिव अजय शिर्के को उनके पद से बर्खास्त कर दिया था. जिसके बाद से बोर्ड के नए अध्यक्ष और सचिव की अभी कोई अधिकारिक घोषणा नहीं हुई है और अब उसके सामने इस तरह की समस्याएँ आ रही हैं.

भारत और बांग्लादेश टेस्ट मैच पर खड़ा हुआ बड़ा सवाल 2

इसके पहले तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन ने भारत और इंग्लैंड की अंडर -19 टेस्ट की मेजबानी करने से इंकार कर दिया है.

यह भी पढ़े : अपनी कप्तानी में महेंद्र सिंह धोनी को ऐसे टीम में खेलते देखना चाहते है विराट कोहली

हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के सिक्रेटरी जॉन मनोज ने कहा,

“हमने कभी भी किसी चीज के लिए इंकार नहीं किया है और इस टेस्ट की मेजबानी के ऊपर भी हम कार्य कर रहे थे, लेकिन हमारे पास पर्याप्त राशि नहीं है, जिसके चलते यह संभव नहीं हो सकता है और इस बात की सूचना हमने आगे पहुँचा दी है. आगे का शेड्यूल जब तय होगा तब बीसीसीआई कोई फैसला लेती है, तब तक हम कुछ नहीं कह सकते हैं.”

इस मैदान पर भारतीय टीम ने आखिरी बार श्रीलंका के खिलाफ 2014 में वनडे मैच खेला था और उसे इस मैच में 6 विकेट से जीत मिली थी. हैदराबाद का यह मैदान हमेशा ही नए कीर्तिमान के लिए जाना गया है.