केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना 

केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना

भारत के तेज़ गेंदबाज़ एस.श्रीसंत एक बार फिर से वापसी करने को तैयार हैं. उनका मानना है वो एक बार फिर से अपने करियर को पटरी पर ले आएँगे.उन्होंने कहा है कि वो इस काम के लिए भारत के महान तेज़ गेदबाज़ आशीष नेहरा को प्रेरणा मान रहें हैं.

मैं भी आशीष नेहरा की तरह मैदान पर वापसी करूँगा 

केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना 1

आप को बता दे श्रीसंत पर लगे प्रतिबंद को केरल हाई कोर्ट ने हटा दिया हैं. हालांकि बीसीसीआई इस मामले को छोड़ने को तैयार नही हैं. उसने हाई कोर्ट में इसकी अपील करने की बात की है. आगे क्या हुआ इसको लेकर श्रीसंत ने कुछ नही कहा है लेकिन श्रीसंत का मानना है कि वो इस बार फिर से वापसी कर सकते हैं. 34 वर्षीय श्रीसंत का मानना है कि जिस तरह से नेहरा ने 37 साल की उम्र में क्रिकेट के मैदान में सफलतम तरीके से वापसी की है मैं भी एक बार फिर से मैदान पर वापसी कर सकता हूँ. मुझे नही लगता है मेरी उम्र की वजह से कोई भी दिक्कत होगी. आशीष नेहरा मेरे लिए एक प्रेरणा है.

केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना 2

उन्होंने आगे कहा कि उनका प्रदर्शन उम्र के हिसाब से अच्छा होता जा रहा है. ये बिल्कुल उस शराब की तरह है जी जितनी पुरानी होती है उतनी अच्छी होती हैं. मुझे भी लगता है उम्र की वजह से मेरे प्रदर्शन में भी सुधार आएगा. मेरे लिए क्रिकेट इस समय सब कुछ है. मैं अपना सारा ध्यान मेरे क्रिकेट करियर पर ही है.

मुझे एक बार फिर से अपने घर वालों को गर्व महसूस कराना है 

केरल हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंद से मुक्त होने के बाद बड़बोले हुए एस श्रीसंत दिग्गज आशीष नेहरा से कर बैठे खुद की तुलना 3

भविष्य को लेकर उन्होंने कहा कि मैं सी समय अपने सपनो को फिर से हासिल करना चाहता हूँ. मैं एक बार फिर से अपने परिवार को गर्व महसूस करना चाहता हूँ. मैं अभी भी किसी को कुछ भी नही बता सकता हूँ लेकिन मैं क्रिकेट के मैदान पर कुछ ऐसा हासिल करना चाहता हूँ जो क्रिकेट के मैदान में मुझे हमेशा याद रहें. मैंने अपनी जिंदगी बहुत कुछ देखा है. ऐसे में मैं अब बस खुश होना चाहता हूँ. उन्होंने प्रश्न करते हुए पूछा कि क्या मैं कुछ मांग रहा हूँ. इसके अलावा उन्होंने बीसीसीआई के फैसले के खिलाफ अपील करने पर निराशा व्यक्त की.

Related posts