ऑस्ट्रेलियन मिडिया के द्वारा अपमानित किए जाने के बाद इस ऑस्ट्रेलियन दिग्गज ने की विराट की तारीफ | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

ऑस्ट्रेलियन मिडिया के द्वारा अपमानित किए जाने के बाद इस ऑस्ट्रेलियन दिग्गज ने की विराट की तारीफ 

ऑस्ट्रेलियन मिडिया के द्वारा अपमानित किए जाने के बाद इस ऑस्ट्रेलियन दिग्गज ने की विराट की तारीफ

भारत के कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में अपने मैदानी व्यवहार के लिए सुर्खियों में बने हुए है। विराट कोहली क्रिकेट के मैदान में यंग्री यंग मैन की भूमिका में नजर आते है। उनके चेहरे पर विरोधी टीम को लेकर गुस्सा कुछ ज्यादा ही दिखाई देता है।

विराट कोहली अपने इसी व्यवहार के कारण कई बार आलोचना के शिकार बन जाते है और आलोचक कोहली के रवैये को लेकर तरह-तरह की बाते करते है। हाल ही में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही इस सीरीज में  विराट कोहली को अपने मैदानी रवैये के कारण ऑस्ट्रेलियाई पूर्व खिलाड़ी इयान हिली ने जमकर आड़े हाथो लिया। हिली ने कोहली के व्यवहार को लेकर कहा था, कि विराट कोहली के प्रति मेरे मन में जो सम्मान था, वो कोहली की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में की गई हरकत के लिए कम हो गया है।ऑस्ट्रेलिया के दो दिग्गज खिलाड़ी, मैथ्यू हेडन और डेविड बुन को मिला ये बड़ा सम्मान

लेकिन ऑस्ट्रेलिया के सफल सलामी बल्बेबाज मैथ्यू हेडन ने इयान हिली के ठीक विपरीत बयान दिया है। मैथ्यू हेडन ने कोहली को लेकर कहा कि, “विराट कोहली को लेकर मेरे मन में बहुत ही सम्मान है। विराट जैसी हरकते मैनें भी किया था, ये हमेशा सही लाइन पर चलते है।”

हेडन ने मुंबई मिरर से बातचीत करते हुए कहा कि,  “हम क्रिकेट को लेकर बहुत ही भावुक हो जाते है। जैसे कि मेरा मानना है कि स्लेजिंग, रवैया, स्वभाव, अनुशासन, और  वर्चस्व हमारे शस्त्रगार का हिस्सा है। जो कभी-कभार फैल जाता है। और इन सब चीजो का सम्मान करना चाहिए।”स्टीव स्मिथ को लेकर रिकी पॉन्टिंग ने 4 साल पहले ही कर दी थी ये भविष्यवाणी जो अब हो रही है सच साबित

हेडन ने इस बात को जारी रखते हुए कहा कि, “मैनें इस खेल को इसिलिए खेला है कि मुझे इससे सम्मान मिलता था। और मैने ये खेल अपने सम्मान के लिए ही खेला है। और ये सम्मान मुझे साथ के खिलाड़ियों से मिले यही चाहता था। और मैं यकिनन है कह सकता हूं कि विराट के साथ भी ऐसे ही है। वो ये खेल अपने अात्मसम्मान के लिए खेलते है। और वो ये भी चेहते है कि इस खेल को कितने जूनुन से खेलना है।”

Related posts